स्विट्जरलैंड के ल्यूसाने में 17 से 23 मई तक तीरंदाजी वर्ल्ड कप (दूसरे चरण) का आयोजन होना है, जिसमें भारतीय खिलाड़ियों को भी हिस्सा लेना है. लेकिन भारत में फैली कोविड-19 वायरस की दूसरी लहर को देखते हुए स्विट्जरलैंड के दूतावास ने भारतीय तीरंदाजी टीम को वीजा देने से इनकार कर दिया है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार में कोविड महामारी से भारत में बिगड़े हालात को देखते हुए स्विज सरकार ने यात्रा संबंधी प्रतिबंध लगा दिए हैं. इसी के चलते दूतावास ने भारतीय टीम को इस प्रतिस्पर्धा के लिए वीजा देने से मना कर दिया है. इसके बाद तीरंदाजी संघ ने विदेश मंत्रालय से वीजा दिलाने की गुहार लगाई है. Also Read - आर्चरी 'क्वीन' दीपिका कुमारी 30 जून को बनेंगी दुल्हन, ओलंपियन अतनु दास के संग लेंगी सात फेरे

गौरतलब है कि दीपिका कुमारी और अतानु दास ने ग्वाटेमाला में हुए वर्ल्ड कप में व्यक्तिगत स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता था. इसके बाद रिकर्व तीरंदाजी टीम को दूसरे वर्ल्ड कप में भी भेजा जा रहा था. 21 से 27 जून तक पैरिस में होने वाले ओलंपिक क्वॉलीफाइंग वर्ल्ड कप से पहले यह वर्ल्ड कप महिला तीरंदाजों के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है. इसी टूनार्मेंट में भारतीय महिला टीम के पास ओलंपिक कोटा हासिल करने का मौका है. Also Read - Rio Olympic 2016 Archery: After Deepika Bombeyla devi also crashes out | रियो ओलम्पिक (तीरंदाजी) : दीपिका के बाद बोम्बेला ने भी किया निराश

व्यक्गित स्पर्धा में अब तक दो बार की ओलंपियन दीपिका कुमारी ने ही टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया है, जबकि भारतीय महिला रिकर्व ने अब तक टोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल नहीं कर पाई है. Also Read - India in Rio Olympics 2016 Live Update Day-6: Hockey, Golf, Archery and biggest hope in badminton Saina Nehwal is on action today | रियो ओलम्पिक 2016 लाइव अपडेटः आज भारत के हॉकी, गोल्फ, तीरंदाजी और बैंडमिंटन के मुकाबले, साइना नेहवाल पर निगाह

पुरुषों की रिकर्व टीम में प्रवीण जाधव, तरुणदीप राय और अतनु दास ने पहले ही ओलंपिक खेलों के लिए टीम स्पर्धा और व्यक्तिगत वर्ग के लिए क्वॉलीफाई कर लिया है. उन्होंने 2019 में नीदरलैंड में तीरंदाजी विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक का टिकट कटाया था.

इनपुट : IANS