थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में 8 से 15 मार्च तक आयोजित होने वाले आगामी एशिया कप विश्व रैंकिंग टूर्नामेंट से भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) ने कोरोना वायरस के डर से हटने का फैसला किया है। पांच महीने के निलंबन से वापसी के बाद भारतीय तीरंदाजी टीम का यह पहला अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट होता। Also Read - IOC ने टोक्‍यो ओलंपिक क्वालिफिकेशन की नई तारीखों का किया ऐलान

कोरोना वायरस के समय क्रिकेट : ‘अगर ओलंपिक हो सकता है तो फिर IPL क्यों नहीं’ Also Read - टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके खिलाड़ियों के कोटा स्थान को खतरा नहीं, 2021 में भी रहेगा मान्य

एएआई के सहायक सचिव गुंजन अबरोल ने विश्व तीरंदाजी महासचिव टॉम डिलेन को लिखा, ‘कोरोना वायरस के कारण मौजूदा चिंताजनक स्थिति की समीक्षा तथा साई व आईओसी, एएआई द्वारा जारी यात्रा संबंधित सलाह के बाद हम अपनी टीम के स्वास्थ्य के बारे में चिंतित हैं और इन मौजूदा परिस्थितियों में कोई जोखिम नहीं ले सकते।’ Also Read - प्रैक्टिस के बाद भारतीय हॉकी खिलाड़ियों को नहीं है बाहर जाने की इजाजत, जानिए किस तरह से बिता रहे समय

उन्होंने लिखा, ‘इसलिए टीम को सात से 15 मार्च तक बैंकॉक में होने वाले एशिया कप पहले चरण के विश्व रैंकिंग तीरंदाजी टूर्नामेंट से टीम को हटाने का फैसला किया जाता है। टीम की सात मार्च को रवानगी के सारे इंतजाम कर दिए गए थे लेकिन दुर्भाग्य से हमें अपनी इच्छा के विरूद्ध यह मुश्किल फैसले करने को बाध्य होना पड़ा।’

कोरोना वायरस: खेल मंत्री कीरेन रीजीजू की खिलाड़ियों को सलाह, लोगों से हाथ मत मिलाओ

विश्व तीरंदाजी अधिकारी ने पीटीआई से कहा कि टूर्नामेंट का आयोजन होगा, हालांकि थाईलैंड में कोरोना वायरस के कारण एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है और जनवरी से अब तक वहां 45 से ज्यादा पॉजीटिव मामले सामने आए हैं। इस वायरस से पूरी दुनिया में अब तक 3000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है और 90,000 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं।