क्रिकेट की इतिहास में ऐसे कई नाम शामिल है जिन्हें अपने करियर के अहम पड़ाव में गंभीर चोटों का सामना करना पड़ा है. इन चोटों ने तो कई खिलाड़ियों का करियर तक खत्म कर दिया है. क्रिकेट के खेल में जहां एक तरफ फिटनेस को किसी भी खिलाड़ी के सेलेक्शन का एक महत्वपूर्ण पैमाना माना जाता है, वहीं दूसरी तरफ किसी भी खिलाड़ी को सबसे ज्यादा चोटिल भी यही खेल करता है. इतिहास के पन्नों में ऐसे ढेरों क्रिकेटर्स के नाम है जिनका पूरा करियर केवल एक चोट ने बर्बाद कर दिया. भारतीय क्रिकेट टीम भी पिछले कुछ महीनों से ऐसी ही त्रासदी से गुजर रही है. टीम इंडिया के ये वो नौजवान है जिन्हें हाल ही में चोटों का सामना करना पड़ा और मैदान से दूर रहना पड़ा. इन युवा क्रिकेटर्स का करियर अभी बनने और संवरने ही वाला है लेकिन उससे पहले इनकी चोटें ने इन्हें बिस्तर पर पटक दिया है.

जसप्रीत बुमराह-फोटो:पीटीआई

जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah)

इस सूची में सबसे पहला नाम आता है भारत के स्टार पेसर जसप्रीत बुमराह का. बहुत कम वक्त में टीम में अपनी जगह पुख्ता करने वाले बुमराह हाल ही में ‘स्ट्रेस फ्रैक्चर’ के कारण टीम से बाहर हो गए हैं. लंबे समय से अपनी घातक गेंदबाजी से विपक्षी टीमों का चैन और सुकून छीनने वाला ये पेसर अब मैदान से दूर खुद को इस चोट से उभारने की कोशिश में लगा है. कई क्रिकेट विशेषज्ञों का मानना है कि बुमराह के ‘फ्रैक्चर’ का कारण उनकी गेंदबाजी का एक्शन है. कई जानकार ने यह भी सलाह दी है कि बुमराह को अगर ज्यादा वक्त तक क्रिकेट खेलना है तो इन्हें अपनी गेंदबाजी का एक्शन बदलना पड़ेगा. फिलहाल, बुमराह करीब दो महीनों तक खेल से दूर रहेंगे.

हार्दिक पांड्या

हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya)

इस लिस्ट में अब नाम आता है टीम इंडिया के हरफनमौला ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या का. हार्दिक ने भी अपने प्रदर्शन से क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में अपना वर्चस्व कायम कर लिया है. ये खिलाड़ी जितनी रफ्तार से अपनी गेंदबाजी से आग उगलता है, उतनी ही रफ्तार से अपने बल्लेबाजी से भी गेंदबाजों के छक्के छुड़ाता है. साउथ अफ्रीका के खिलाफ हुए टी-20 मैच में इन्हें पीठ की दर्द से टीम से बाहर जाना पड़ा. हार्दिक पहले भी कई बार ऐसी छोटी-बड़ी चोटों का शिकार हो चुके हैं लेकिन इस बार दर्द इतना बढ़ गया कि उन्हें अपनी पीठ की सर्जरी करानी पड़ी. हालंकि कुछ दिनों पहले ही हार्दिक ने इस सर्जरी की कामयाबी की खबर लोगों को दी थी. अपने करियर के महत्वपूर्ण पड़ाव में इस युवा क्रिकेटर का बार बार चोटिल होना भारतीय क्रिकेट टीम के लिए परेशानी का सबब बन सकता है.

vijay shankar, vijay shankar icc world cup 2019, vijay shankar out of world cup, vijay shankar ruled out of world cup, all-rounder vijay shankar ruled out of world cup, vijay shankar ruled out of icc world cup 2019, rohit sharma, mayank agarwal replacement, mayank agarwal replaces vijay shankar, indian all rounder vijay shankar,

विजय शंकर

विजय शंकर (Vijay Shankar)

इस नाम से तो सब वाकिफ ही होंगे. आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में अगर किसी खिलाड़ी का नाम गूंजा है तो वो भारत के काबिल ऑलराउंडर विजय शंकर का ही है. जब टीम इंडिया अपने प्लेइंग इलेवन में चौथे पायदान पर खेलने वाले खिलाड़ी को ढूंढ़ने में संघर्ष कर रही थी तब अचानक से तमिलनाडु के इस ऑलराउंडर का चेहरा सामने आ गया. विश्व कप के दौरान ही एड़ी की चोट से उन्हें टीम से बाहर किया गया. उसके बाद टीम इंडिया के इस ‘स्पॉट’ पर कई दावेदार खड़े मिले. टीम सेलेक्टर्स ने टॉप आर्डर बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को मौका दिया था. लंबे समय से अपनी चोट से जूझ रहे विजय शंकर ने अब विजय हजारे ट्रॉफी से एक नई शुरुआत की ही. भारतीय क्रिकेट में अपनी जगह बनाने का जब मौका मिला तब शंकर अपनी चोट के साथ संघर्ष कर रहे थे. सेलेक्टर्स की आंखों में फिर से चमकने में शंकर को अब थोड़ा वक्त जरूर लग सकता है.

Prithvi Shaw, Prithvi Shaw Suspended, Shaw Suspension, Prithvi Shaw Doping Violation, Prithvi Shaw Doping Test, Shaw Suspended From Cricket, Team India, BCCI, India vs West Indies 2019, Cricket News, Prithvi Shaw Banned,

पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw)

टीम इंडिया का एक ऐसा प्लेयर जिसने फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलकर ही दुनिया को अपना मुरीद बना लिया था. अपने छोटे से उम्र में ही पृथ्वी ने कई ऐसे कारनामें किए हैं जो उन्हें बाकी खिलाड़ियों से अलग करता है. पिछले दिनों ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पृथ्वी टखने की चोट से परेशान हो गए और उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. अपने करियर की शुरुआत में ही उन्हें कई बार गंभीर चोटों का सामना करना पड़ा है. इसी साल आईपीएल में भी पृथ्वी कूल्हे की चोट की वजह से काफी ‘डिस्टर्ब’ रहें थे. अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर के बुनियादी दिनों में ही पृथ्वी को इन चोटों ने लंबे समय के लिए मैदान से दूर रखा है. इस युवा प्रतिभाशाली खिलाड़ी के लिए ये चोटें उनके करियर की रुकावट बन सकती हैं.