नई दिल्ली : जॉर्डन के साथ पहली बार कोई अंतर्राष्ट्रीय दोस्ताना मैच खेलने पहुंची भारतीय पुरुष फुटबॉल टीम को उस समय एक बड़ी समस्या का सामना करना पड़ा जबकि तूफान और भारी बारिश के कारण उसके सात खिलाड़ियों को करीब 32 घंटे तक कुवैत अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रुके रहना पड़ा. भारतीय फुटबॉल टीम को शनिवार को अम्मान के किंग अबदुल्लाह स्टेडियम में जॉर्डन के खिलाफ दोस्ताना मैच खेलना है. भारत पहली बार जॉर्डन के खिलाफ कोई फुटबॉल मैच खेल रहा है. Also Read - कोरोना से लड़ाई में आगे आए भारतीय फुटबाल टीम के खिलाड़ी; कप्तान सुनील छेत्री ने लोगों से दान करने की अपील की

टीम के सात खिलाड़ी अब अम्मान पहुंच गए हैं और अब वे अपने पिछले 32 घंटे के थकान को दूर कर रहे हैं. इनमें फॉरवर्ड जेजे लालपेखलुआ, सुमित पासी, बलवंत सिंह, मनवीर सिंह, मिडफील्डर उदांता सिंह, हालीचरण नारजारी और आसिक कुरुनियन शामिल हैं. Also Read - भारत में मुसीबत बने टिड्डे, कुवैत जैसे देश में इसी को चाव से खा रहे हैं लोग

मोहम्मद शमी की फिटनेस को लेकर सतर्क हुई BCCI, रणजी में अधिकतम 15 ओवर फेंकने की सलाह Also Read - दिल के इलाज के लिए फ्रांस जाएंगे युवा डिफेंडर अनवर अली

15 सदस्यीय भारतीय टीम के कुछ सदस्य पहले ही अम्मान पहुंच चुके थे. लेकिन फ्लाइट में देरी होने के कारण टीम के सात खिलाड़ियों और कुछ स्टाफ को करीब 32 घंटे तक कुवैत अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रुके रहना पड़ा. कुवैत सिटी में तूफान और बारिश के कारण कई उड़ानों को या तो रद्ध करना पड़ा है और उन्हें स्थगित करना पड़ा है.

इंडिया ए ने न्यूजीलैंड ए के खिलाफ 467 रन बनाकर पारी की घोषित, पार्थिव पटेल शतक से चूके

इन परेशानियों के अलावा खिलाड़ियों को उस समय एक और परेशानी का सामना करना पड़ा जब अम्मान में उतरते समय उनके किट, टीम उपकरण और सभी खिलाड़ियों तथा सहायक कर्मचारियों के व्यक्तिगत सामान भी गायब हो गए. इन बाधाओं और परेशानियों के बावजूद भारत और जॉर्डन के बीच पहला दोस्ताना मैच आज रात 10 बजकर 30 मिनट से खेला जाएगा और इसका प्रसारण स्टार स्पोटर्स पर किया जाएगा.