भुवनेश्वर: भारत की फर्राटा महिला धावक दुती चंद ने एथलेटिक्स से संन्यास लेने के बाद राजनीति में आने की इच्छा जाहिर की है. दुती ने सोमवार को ट्वीट किया, “मैं बचपन से ही राजनीति में आना चाहती थी. मेरा परिवार जमीनी स्तर से राजनीति से जुड़ा हुआ है. मेरी मां गांव की सरपंच रही हैं.” दुती ने हालांकि यह साफ कर दिया है कि उनका अभी नेतागिरी करने का मन नहीं है. वह एथलेटिक्स में अपने करियर के समापन के बाद रजनीति में कूदेंगी.

उन्होंने ट्वीट किया, “अभी मैं अपने एथलेटिक्स करियर पर ध्यान दे रही हूं. अभी मेरा राजनीति में आने का कोई मन नहीं है.” 23 साल की दुती 27 सितंबर से शुरू हो रही विश्व चैम्पियनशिप की तैयारी में लगी हुई हैं. इससे पहले भारत की स्टार धावक ने एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया था कि वो समलैंगिक हैं. वो इस तरह का खुलासा करने वाली पहली भारतीय एथिलीट बन गईं थी . दुती एशियन गेम्स 2018 में भारत को दो सिल्वर मेडल दिला चुकी हैं. उन्होंने एक इंग्लिश न्यूज पेपर को दिए इंटरव्यू में कहा था  कि वो समलैंगिक हैं. उनकी पार्टनर उड़ीसा की रहने वाली हैं. लेकिन दुती ने अपने पार्टनर के बार में कुछ भी नहीं कहा. उनका कहना है कि सभी को यह आजादी होनी चाहिए कि वो किसके साथ जीवन बिताना चाहता है. अहम बात यह है कि दुती ने समलैंगिक लोगों के लिए कई बार आवाज उठाई है.