नई दिल्ली। इंग्लैंड के खिलाफ चौथे और पांचवे टेस्ट मैच के लिए टीम इंडिया का ऐलान कर दिया गया है. इसमें सबसे चौंकाने वाला नाम है पृथ्वी शॉ का. इस धुरंधर बल्लेबाज को अगले दो मैचों के लिए चुना गया है. इसके अलावा बल्लेबाजा हनुमा विहारी को भी मौका दिया गया है. अनुभवी सलामी बल्लेबाज मुरली विजय को पहले दो टेस्ट में खराब प्रदर्शन के बाद बाहर कर दिया गया जबकि चाइनामैन कुलदीप यादव को अतिरिक्त बल्लेबाज को टीम में जगह देने के लिए बाहर किया गया. इंग्लैंड की तेज गेंदबाजों की मददगार पिचों पर तीसरे स्पिनर की जरूरत नहीं है. विजय ने बर्मिंघम में दो पारियों में 20 और छह रन बनाए थे जबकि शिखर धवन और केएल राहुल बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं.

चौथे, पांचवे टेस्ट के लिए टीम-
विराट कोहली, शिखर धवन, केएल राहुल, पृथ्वी शॉ, चेतेश्वर पुजारा, अंजिक्य रहाणे, ऋषभ पंत, हार्दिक पंड्या, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, जसप्रीम बुमराह, इशांत शर्मा, मो. शमी, उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर, करुण नायर, दिनेश कार्तिक और हनुमा विहारी.

पृथ्वी शॉ ने अंडर 19 वर्ल्ड कप में जबरदस्त बल्लेबाजी से सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा था. इसके बाद उन्होंने आईपीएल में दिल्ली की ओर से खेलकर दिग्गजों का दिल जीता. हाल ही में इंडिया ए टीम की ओर से शॉ ने कई जबरदस्त पारियां खेल सीनियर टीम के लिए अपना दावा पेश कर दिया था.

लोगों ने हम पर भरोसा करना बंद कर दिया था, हमने नहीं: विराट कोहली

बता दें कि टीम इंडिया ने जबरदस्त वापसी करते हुए इंग्लैंड के खिलाफ ट्रेंटब्रिज टेस्ट 203 रनों से जीता है. अब भारत सीरीज में 1-2 से पीछे है. तीसरे टेस्ट में भारतीय टीम के सभी खिलाड़ियों ने जोरदार प्रदर्शन कर इंग्लैंड को करारी हार पर मजबूर कर दिया. कोहली ने पहली पारी में 97 जबकि दूसरी पारी में 103 रनों की पारी खेली. इस पारी में बुमराह ने 5 विकेट झटके.

इसके अलावा दूसरी पारी में चेतेश्वर पुजारा और हार्दिक पांड्या ने भी जोरदार पारी खेली. पहले दो मैचों में लचर प्रदर्शन के चलते बल्लेबाज आलोचकों के निशाने पर थे.

विराट कोहली में क्रिकेट का जुनून, खेल की समझ सचिन जैसी: रवि शास्त्री

भारत ने अपनी पहली पारी में 329 रन बनाए थे और इंग्लैंड को पहली पारी में 161 रनों के स्कोर पर ढेर कर दिया. इसके बाद भारत ने कप्तान विराट कोहली (103) के 23वें शतक, चेतेश्वर पुजारा (72) और हार्दिक पांड्या के नाबाद 52 रनों के दम पर अपनी दूसरी पारी सात विकेट के नुकसान पर 357 रनों पर घोषित कर दी थी.