शिखर धवन (Shikhar Dhawan) की अगुआई वाली भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ 13 जुलाई से शुरू होने वाली छह मैचों की सीमित ओवर फॉर्मेट सीरीज से पहले मुंबई में 14 से 28 जून तक पृथकवास में रहेगी। कोलंबो रवाना होने से पहले खिलाड़ियों के एक दिन छोड़कर छह आरटी-पीसीआर टेस्ट होंगे।Also Read - IND vs ENG: पहले टेस्ट के लिए नॉटिंघम पहुंची टीम इंडिया, पिच पर हरी घास देखकर चैलेंज को तैयार

श्रीलंका जाने वाली टीम के लिए सभी नियम (SOP) समान होंगे जैसे इंग्लैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल और पांच मैचों की सीरीज के लिए ब्रिटेन में मौजूद भारत की टेस्ट टीम के लिए थे। Also Read - मोंटी पनेसर बोले- BCCI चाहता है हम POK की लीग में ना खेलें तो करना होगा ये काम

पीटीआई से बातचीत में बोर्ड से जुड़े सूत्र ने कहा, ‘‘सभी नियम वैसे ही होंगे जैसे इंग्लैंड रवाना होने के लिए अपनाए गए थे। बाहर के राज्यों से आने वाले खिलाड़ी चार्टर फ्लाइट से आएंगे और कुछ कर्मिशियल एयरलाइन की बिजनेस क्लास से यात्रा करेंगे। वो सात दिन तक अपने ही कमरे में क्वारेंटीन करेंगे और फिर जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण में ‘कॉमन’ स्थान पर मिल सकेंगे। खिलाड़ी अलग अलग समय पर जिम सत्र में हिस्सा ले सकेंगे।’’ Also Read - हर्षल गिब्‍स को BCCI की खरी-खरी, POK की कश्‍मीर प्रीमियर लीग में खेलने वाले क्रिकेटर्स की होगी IPL से छुट्टी

तीन मैचों की वनडे सीरीज 13 जुलाई से शुरू हो रही है तो उम्मीद है कि भारतीय टीम को निजी ट्रेनिंग सेशन के बाद मैच की परिस्थितियों का अभ्यास कराया जाएगा। इससे पहले उन्हें कोलंबो में टीम होटल में तीन दिन तक कमरे में अलग रहना होगा।

सूत्र ने कहा, ‘‘ये उसी तरह होगा जैसा इंग्लैंड में हो रहा है। मैच की तरह की परिस्थितियां बनायी जाएंंगी और टीम के अंदर ही अभ्यास कराया जायेगा। आप अपने मुख्य खिलाड़ियों को पहली ही गेंद पर आउट नहीं होने देना चाहते। हर किसी को ट्रेनिंग की जरूरत है तो ये अभ्यास मैच नहीं होंगे।’’