टीम इंडिया के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल (Parthiv Patel) ने सभी तरह की क्रिकेट से आज अपने संन्यास की घोषणा कर दी है. पार्थिव ने साल 2002 में सौरव गांगुली की कप्तानी में नॉटिंगम (इंग्लैंड) टेस्ट से अपने इंटरनेशल करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच करीब 3 साल पहले साल 2018 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला था. Also Read - IPL 2021 में प्लेइंग इलेवन से ज्यादा छेड़छाड़ ना करे चैंपियन मुंबई इंडियंस: पार्थिव पटेल

यह विकेटकीपर बल्लेबाज आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में लगातार एक्टिव था. वह इस सीजन आईपीएल में विराट कोहली (Virat Kohli) के नेतृत्व वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) का हिस्सा थे. लेकिन इस सीजन उन्हें इस लीग में एक भी मैच खेलने का चांस नहीं मिला था. पार्थिव घरेलू क्रिकेट में गुजरात की टीम के कप्तान भी रहे हैं. उन्होंने गुजरात को साल 2016-17 में अपनी कप्तानी में रणजी ट्रोफी चैंपियन भी बनाया था. Also Read - IPL 2021: 'MS Dhoni से बच कर रहें लीग की बाकी टीमें, वरना खैर नहीं'

उनके इंटरनेशनल क्रिकेट की अगर बात करें तो उन्होंने 25 टेस्ट, 38 वनडे और 2 टी20 इंटरनेशनल मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है. इन तीनों फॉर्मेट में उन्होंने कुल 1706 रन बनाए हैं, जिनमें 10 हाफ सेंचुरी भी शामिल हैं. इसके अलावा विकेटकीपिंग करते हुए इस खिलाड़ी के नाम 93 कैच और 19 स्टंप्स भी हैं.

35 वर्षीय पार्थिव ने अपने संन्यास की घोषणा सोशल मीडिया अकाउंट टि्वटर पर की. उन्होंने सौरव गांगुली और बीसीसीआई को धन्यवाद दिया है, जिन्होंने उन पर भरोसा जताया था.

पार्थिव ने यहां अपना रिटायरमेंट लेटर पोस्ट करते हुए लिखा, ‘आज में सभी प्रकार की क्रिकेट से अपनी रिटायरमेंट की घोषणा करता हूं. जब मैं अपनी इस 18 साल लंबी क्रिकेट यात्रा पर परदा गिरा रहा हूं तो मैं इस मुकाम पर पहुंचने के लिए कई लोगों का आभारी हूं.’

पार्थिव के अगर आईपीएल करियर की बात करें तो उन्होंने 139 मैच खेलकर 2848 रन अपने नाम किए हैं, जिसमें 13 हाफ सेंचुरी भी शामिल हैं. इस लीग में उन्होंने चेन्नई सुपरकिंग्स, डेक्कन चार्जर्स, मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का प्रतिनिधित्व किया.