भारतीय महिला हॉकी टीम ने इंग्लैंड दौरे का समापन ड्रॉ से किया है. रानी रामपाल की अगुवाई वाली टीम इंडिया ने पांच मैचों की सीरीज का 5वां और अंतिम मैच ग्रेट ब्रिटेन के साथ 2-2 से ड्रॉ खेला.

भारत के लिए तीनों फॉर्मेट के मैच में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बने रोहित शर्मा

भारत की ओर से नवजोत कौर और गुरजीत कौर ने एक-एक गोल दागा. नवजोत (8वें मिनट) और गुरजीत (48वें मिनट) ने गोल दागे जबकि मेजबान ब्रिटेन के लिए एलिजाबेथ नील (55वें मिनट) और अन्ना टोमान (60वें मिनट) ने गोल किए.

ब्रिटेन जैसी मजबूत टीम के खिलाफ भारत ने एक मैच जीता जबकि एक में उसे हार मिली वहीं तीन मैच ड्रॉ रहे.

पिछले मैच में पराजय का सामना करने वाली भारतीय टीम ने आक्रामक शुरुआत की. शुरू में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा रहा. गेंद अधिक समय तक मेजबान के हाफ में ही रही.

शुरुआती हमलों का फायदा 8वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर के रूप में मिला जिसे नवजोत ने गोल में बदला.

गोलकीपर सविता ने बचाए तीन गोल

दूसरे क्वार्टर में दोनों टीमों के बीच मुकाबला बराबरी का रहा. ब्रिटेन को तीन पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन अपना 200वां इंटरनेशनल मैच खेल रही भारतीय गोलकीपर सविता ने तीनों को बचा लिया.

China Open से बाहर हुए एंडी मरे, एश्ले बार्टी-नाओमी ओसाका सेमीफाइनल में

तीसरे क्वार्टर में भारत ने गेंद पर नियंत्रण बनाए रखा. हाफटाइम में हीश की जगह आई एमी टिनेंट ने 40वें मिनट में गुरजीत का गोल बचाया. भारत ने 48वें मिनट में एक और गोल किया.

आखिरी 5 मिनट में ब्रिटेन ने दागे दो गोल

ब्रिटेन ने आखिरी पांच मिनट में दो गोल कर भारतीय टीम के जीत के मंसूबों पर पानी फेर दिया.