टोक्यो: भारतीय महिला हॉकी टीम ने दो गोल से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए रविवार को यहां ओलंपिक परीक्षण प्रतियोगिता के राउंड रोबिन लीग मैच में दुनिया की दूसरे नंबर की टीम ऑस्ट्रेलिया को 2-2 से ड्रा पर रोका. भारत ने शनिवार को पहले मैच में मेजबान जापान को 2-1 से शिकस्त दी थी. बता दें कि जापान जाने से पहले भारतीय कप्तान रानी रामपाल ने कहा था कि प्रतियोगिता में उनका ध्यान पूरी तरह से आस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को शिकस्त देने पर होगा.

टूर्नामेंट के दूसरे मैच में भारत के लिए वंदना कटारिया (36वें मिनट) और गुरजीत कौर (59वें मिनट) ने गोल किए. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कैटलिन नोब्स ने 14वें और ग्रेस स्टीवर्ट ने 43वें मिनट में गोल दागे.

दुनिया की 10वें नंबर की भारतीय टीम ने आक्रामक तरीके से मैच की शुरुआत की. उसने ऑस्ट्रेलिया की आक्रामक हॉकी जैसा ही खेल दिखाया, जिससे दोनों टीमों ने पेनल्टी कार्नर हासिल किए. हालांकि दोनों ही गोल नहीं कर सकीं. लेकिन 14 वें मिनट में भारतीय डिफेंडर ने गोल पर एक शाट रोक दिया, जिसके बाद ऑस्ट्रेलिया को पेनल्टी स्ट्रोक दिया गया. नोब्स ने गोल कर टीम को 1-0 से बढ़त दिलाने में कोई गलती नहीं की.

दुनिया की दूसरे नंबर की टीम दूसरे क्वार्टर में पूरी तरह से हावी रही और कई पेनल्टी कार्नर हासिल कर भारतीय टीम को दबाव में ला दिया. भारतीय गोलकीपर सविता ने कई अच्छे बचाव किए, जिससे हाफ टाइम तक आस्ट्रेलिया 1-0 से आगे रही.

ऑस्ट्रेलिया के लिए मैच की शुरुआत शानदार रही और पहले क्वार्टर के समाप्त होने से पहले वे बढ़त बनाने में कामयाब रहे. 14वें मिनट में नॉब्स ने ऑस्ट्रेलिया को बढ़त दिलाई. भारतीय टीम ने अपने प्रदर्शन के स्तर को गिरने नहीं दिया और दूसरा हाफ बेहद रोमांचक रहा. दोनों टीमों ने अटैकिंग हॉकी खेली, लेकिन किसी को भी गोल करने में सफलता नहीं मिली.

तीसरे क्वार्टर में फिर ऑस्ट्रेलियाई टीम का दबदबा रहा और पेनल्टी कार्नर के जरिए गोल करने के कुछ मौके बनाए. पर सविता ने फिर शानदार बचाव किए. वंदना कटारिया ने 36 वें मिनट में बराबरी गोल दागा. पर यह बढ़त ज्यादा समय तक नहीं रही. आस्ट्रेलिया ने 43 वें मिनट में ग्रेस स्टीवर्ट की बदौलत स्कोर 2-1 से कर दिया.

भारत की यह बढ़त हालांकि, ज्यादा देर तक नहीं रही. 43वें मिनट में स्टीवर्ट ने बेहतरीन गोल करते हुए ऑस्ट्रेलिया को दोबारा आगे कर दिया. ऐसा लगा रहा था कि भारत यह मैच हार जाएगा, लेकिन 59वें मिनट में गुरजीत आगे आई और गोल करते हुए अपनी टीम की हार टाल दी. भारतीय टीम अपने तीसरे और आखिरी राउंड राबिन मैच में मंगलवार को चीन से भिड़ेगी.