भारत की चार गुणा 400 मीटर मिश्रित रिले टीम ने सीजन का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में सातवें स्थान पर रही। Also Read - On This Day: 18 साल पहले आज ही के दिन युवराज-कैफ ने लॉर्डस में रचा था इतिहास

Also Read - '...तब दादा हमारे ड्रेसिंग रूम में आए और हमने कहा था-जाओ चिंता मत करो हम इसे बड़ा मुद्दा नहीं बनाएंगे'

मोहम्मद अनस, वीके विसमया, जिस्ना मैथ्यू और टाम निर्मल नोह की टीम ने तीन मिनट 15.77 सेकेंड के समय के साथ रविवार को आठ टीमों के फाइनल में सातवें स्थान हासिल किया। भारतीय टीम ने पिछले साल एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के दौरान तीन मिनट 15 . 71 सेकेंड का समय लिया था। Also Read - इसी महीने खत्‍म हो रहा है कार्यकाल, सौरव गांगुली बोले- अब तक पता नहीं मेरे साथ…

अनस ने दौड़ की शुरुआत आठवीं लेन से की और दूसरे चरण की शुरुआत में विसमया अंतिम स्थान पर चल रही थी। तीसरे चरण में विसमया से बेटन लेते समय जिस्ना दूसरे देश की दूसरे चरण की धावक से टकरा गईं जिससे अहम समय का नुकसान हुआ। भारतीय टीम हालांकि इस समय अंतिम स्थान पर थी। नोह ने अंतिम चरण में टीम को वापसी दिलाई लेकिन भारत सिर्फ ब्राजील से आगे सातवें स्थान पर रहा।

सर्बिया टेबल टेनिस ओपन: भारतीय जूनियर खिलाड़ियों ने जीता ब्रॉन्ज मेडल

अमेरिका ने तीन मिनट 9.34 सेकेंड के विश्व रिकार्ड समय के साथ स्वर्ण पदक जीता। इस प्रतियोगिता में पहली बार इस स्पर्धा को शामिल किया गया है। जमैका की टीम तीन मिनट 11 . 78 सेकेंड के साथ दूसरे जबकि बहरीन की टीम तीन मिनट 11 . 82 सेकेंड के समय के साथ तीसरे स्थान पर रही।

भारतीय टीम ने इससे पहले शनिवार को तीन मिनट 16 . 14 सेकेंड के समय के साथ अपनी हीट में तीसरे और कुल सातवें स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह बनाई थी और तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था।