मौजूदा भारतीय क्रिकेट टीम में जसप्रीत बुमराह की अगुआई में टीम इंडिया के पास अलग-अलग तरह के तेज गेंदबाज है. इशांत शर्मा मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव जैसे गेंदबाज उनका साथ देते हैं. भारत के पास शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर और नवदीप सैनी जैसे युवा गेंदबाजों की अच्छी बेंच स्ट्रेंथ है. Also Read - Asia Cup 2020 हुआ रद्द, सौरव गांगुली ने बेहद नाटकीय तरीके से किया ऐलान

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज शॉन पोलाक का कहना है कि मौजूदा समय में भारत के पास तेज गेंदबाजी विभाग में गहराई है और वो दिन बीत गए जब टीम को तीसरे या बैक-अप तेज गेंदबाज को खोजने के लिए संघर्ष करना पड़ता था. Also Read - मैनेजर ने किया साफ धोनी का रिटायरमेंट लेने का नहीं है कोई इरादा, ये है आगे का प्‍लान !

पोलाक ने ‘सोनी टेन पिट स्टॉप’ कार्यक्रम ने कहा, ‘हां, आप लोग (भारत) अब काफी मजबूत स्थिति (तीसरे तेज गेंदबाज को लेकर) में है. गेंदबाजी में गहराई और अलग-अलग तरह के गेंदबाज है. कुछ गेंदबाज लंबे कद के है कुछ छोटे कद के, कुछ गेंद तेज करते है तो कुछ स्विंग कराते है. आप उनसे अच्छा संतुलन बना सकते है.’ Also Read - न्‍यूजीलैंड में करारी शिकस्‍त से निराश हैं सौरव गांगुली, बोले- करूंगा विराट-शास्‍त्री से बात

‘तब कोई तीसरा  तेज गेंदबाज टीम इंडिया के पास नहीं था’

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ने कहा कि एक समय था जब भारत के पास जवागल श्रीनाथ और वेंकटेश प्रसाद जैसे प्रमुख तेज गेंदबाजों के समर्थन के लिए कोई तीसरा गेंदबाज नहीं था.

‘अब आप तीन या चार तेज गेंदबाजों के साथ मैदान में उतर सकते हैं’

दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट में 421 और एकदिवसीय में 393 विकेट लेने वाले पोलाक ने कहा, ‘अब आप तीन या चार तेज गेंदबाजों के साथ मैदान में उतर सकते हैं, आपके पास ऐसे गेंदबाजों का विकल्प है. बीते वर्षों में आपके पास श्रीनाथ और वेंकटेश प्रसाद जैसे गेंदबाज का विकल्प या तीसरा तेज गेंदबाज उस स्तर का नहीं था. इस कारण भारतीय टीम को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था.’

पिछले कुछ समय से उपरोक्त भारतीय पेस बैटरी ने देश के अलावा विदेशों में भी अच्छे प्रदर्शन किए हैं जिसकी चौतरफा वाहवाही हो रही है.