नई दिल्ली. वांडरर्स पर T20 सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर चुकी टीम इंडिया अब सेंचुरियन में सीरीज जीत के लिए तैयार है. अपने इस प्लान की कामयाबी के लिए उन्होंने खोलो खाता, जोड़ो नाता का नारा भी बुलंद कर लिया है. दरअसल, सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट्स पार्क पर भारतीय टीम को फटाफट क्रिकेट खेलने का अनुभव नहीं है. लेकिन, इसके बावजूद जोहान्सबर्ग में खेले पहले T20 के हीरो भुवनेश्वर कुमार का कहना है कि इसका टीम के माइंडसेट पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. Also Read - India vs England: जो रूट चाहते हैं भारतीय स्पिनरों का बहादुरी से सामना करें इंग्लिश बल्लेबाज

‘जीत पर फोकस’ Also Read - India vs England: चौथे टेस्ट से पहले पिच की आलोचना पर बोले रहाणे 'लोग जो कह रहे है, उन्हें कहने दीजिए'

भुवी के मुताबिक, ” दूसरे T20 में भी हम उसी माइंडसेट के साथ उतरेंगे जिस सोच के साथ हम पहले T20 में उतरे थे. हम बेहतर खेलेंगे और सेंचुरियन में सीरीज जीतेंगे.” Also Read - WATCH: सर्जरी के बाद मैदान पर लौटे रवींद्र जडेजा; इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में कर सकते हैं वापसी

टीम इंडिया का ‘लकी’ सेंचुरियन

वनडे क्रिकेट में सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट्स पार्क टीम इंडिया के लिए सबसे बेहतर रिकॉर्ड वाला साबित हुआ है. ऐसे में उम्मीद यही है कि इस मैदान से टीम इंडिया का अफेयर क्रिकेट के फटाफट फॉर्मेट में भी जारी रहेगा. खासकर तब जब T20 में मेजबान टीम के खिलाफ मेहमान टीम का रिकॉर्ड उसकी सरजमीं पर सॉलिड रहा हो.

द.अफ्रीका पर बीस है टीम इंडिया

भारत और साउथ अफ्रीका अब तक 11 बार T20 में आमने-सामने हो चुके हैं, जिसमें 7 बार जीत टीम इंडिया को मिली है जबकि 4 मौकों पर बाजी साउथ अफ्रीका के नाम रही है. वहीं, साउथ अफ्रीकी सरजमीं पर टीम इंडिया ने मेजबान टीम के खिलाफ अब तक 5 T20 खेले हैं, जिसमें 4 में भारत जीता है, वहीं 1 में साउथ अफ्रीका को जीत मिली है. इसका मतलब है कि सेंचुरियन में जीत का खाता खोलकर विराट एंड कंपनी ना सिर्फ साउथ अफ्रीका में अपनी T20 जीत का पंच जड़ सकती है बल्कि ऐसा करते हुए सीरीज भी सील कर सकती है.

सेंचुरियन में साउथ अफ्रीका

सेंचुरियन में भारतीय टीम के सीरीज सील करने की पक्की गारंटी इसलिए भी लग रही है कि क्योंकि सुपरस्पोर्ट्स पार्क पर साउथ अफ्रीका का जीत और हार का पर्सेन्टेज फिफ्टी-फिफ्टी का रहा है. इस मैदान पर खेले 6 T20 मुकाबलों में से अफ्रीकी टीम 3 जीती और 3 हारी है.

हौसले बुलंद, जीतकर लो दम

लगातार जीत से टीम इंडिया का कॉन्फिडेंस सातवें आसमान पर है वहीं हार-हारकर प्रोटियाज टीम की कमर टूटी हुई है. साफ है कि हथौड़ा गरम है भारतीय खिलाड़ियों को बस अपने प्लान के मुताबिक जीत का जोर लगाना है, ताकि सेंचुरियन में 2-0 की अजेय बढ़त के साथ T20 सीरीज पर कब्जे का शोर थमने ना पाए.