भारतीय महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) और हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet kaur) अलग-अलग कारणों की वजह से द हंड्रेड से हट गई हैं और ये दोनों खिलाड़ी भारत वापस लौटेंगी।Also Read - India Women Tour of Australia: मल्टी फॉर्मेट सीरीज में हर प्वाइंट महत्वपूर्ण: Smriti Mandhana

मंधाना जो सदर्न ब्रेव का प्रतिनिधित्व कर रही थीं वह ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए इस टूर्नामेंट से हटी हैं। वो टीम के लिए फाइनल सहित आखिर के दो मैच नहीं खेल पाएंगी। स्मृति ने अपनी पिछली पारी में 78 रन बनाए थे और टीम को जीत दिलाने में मदद की थी। Also Read - ICC ODI Rankings: मिताली राज को शेयर करना पड़ा नंंबर-1 का ताज, टॉप-10 में मिताली

मंधाना ने बयान जारी कर कहा, “मैं फाइनल तक टीम के साथ रहना पसंद करती, लेकिन हम लंबे समय से घर से दूर हैं और आगे के दौरों को देखते हुए। मैं लॉर्ड्स में टीम को देखूंगी हूं और उम्मीद करती हूं कि वो हमारी अच्छी फॉर्म को जारी रखेंगे। ये एक शानदार प्रतियोगिता रही है और मैंने वास्तव में इसका आनंद लिया है।” Also Read - Smriti Mandhana ने कंगारू महिला टीम को चेताया, 'ये पिछले साल विश्‍व कप वाली टीम नहीं है...'

हरमनप्रीत जो मैनचेस्टर ओरिजिनल्स के लिए खेलती हैं वो चोटिल हो गई हैं। हालांकि अंकतालिका में सबसे नीचे मौजूद उनकी टीम ने अभी तक हरमन के रिप्लेसमेंट की मांग नहीं की है।

सदर्न ब्रेव के लिए स्मृति की आखिरी पारी बुधवार को आई जब उन्होंने वेल्श फायर पर जीत के लिए 52 गेंदों में 78 रन बनाए। उनकी शानदार पारी के लिए उन्हें ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया।

स्मृति ने कुल सात पारियों में 133.60 के स्ट्राइक रेट से 167 रन बनाए। दूसरी ओर, हरमनप्रीत ने तीन पारियों में 109.47 के स्ट्राइक रेट से 104 रन बनाए।

इन दो खिलाड़ियों के टूर्नामेंट से हटने के बाद अब द हंड्रेड में भारत की ओऱ से केवल शैफाली वर्मा जो बर्मिंघम फीनिक्स के लिए खेलती हैं, दीप्ति शर्मा जो लंदन स्पिरिट का प्रतिनिधित्व करती हैं और टूर्नामेंट के शीर्ष रन-स्कोरर, उत्तरी सुपरचार्जर्स के लिए खेलने वाली जेमिमा रोड्रिग्स रह गई हैं।