इंदौर. ओलंपिक में दो पदक विजेता और तीन साल के बाद वापसी करने वाले दिग्गज पहलवान सुशील कुमार ने राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप के पुरुषों के 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल प्रतियोगिता के क्वार्टरफाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबले खेले बिना ही स्वर्ण पदक अपने नाम किया.Also Read - मध्य प्रदेश के दो बड़े शहरों भोपाल और इंदौर में हम पुलिस कमिश्‍नर प्रणाली लागू कर रहे हैं: सीएम

महिला कुश्ती में देश की इकलौती ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और दंगल गर्ल गीता फोगाट भी प्रतियोगिता के दूसरे दिन अपनी श्रेणियों में विजेता बनीं. सुशील ने अपने चिर-परिचित अंदाज में शुरुआती दो दौर पर अपने प्रतिद्वंदियों को मात दी लेकिन उन्हें क्वार्टरफाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल में कोई चुनौती नहीं मिली. Also Read - Indore को लगातार 5वीं बार Swachh Survekshan Award मिलने के बाद CM शिवराज ने इंदौरी अंदाज में दी बधाई...

Kohli won’t miss a chance to play till his body allows, R Sridhar | शरीर ने साथ दिया तो कोहली खेलने कोई मौका नहीं चूकेंगे: श्रीधर

Kohli won’t miss a chance to play till his body allows, R Sridhar | शरीर ने साथ दिया तो कोहली खेलने कोई मौका नहीं चूकेंगे: श्रीधर

तीनों मुकाबलों में उन्हें वाकओवर मिला. इस प्रतियोगिता में उन्हें महज एक मिनट 33 सेकेन्ड की कुश्ती लड़नी पड़ी. फाइनल में सुशील का मुकाबला प्रवीण राणा से था लेकिन चोटिल होने के कारण मुकाबले में नहीं उतरे. इससे पहले क्वार्टर फाइनल में उन्हें प्रवीण ने वाकओवर दिया तो वही सेमीफाइनल में सचिन दहिया उनके खिलाफ मैदान में नहीं उतरे. Also Read - Swachh Survekshan Awards 2021: सफाई के मामले इंदौर देश में फिर नंबर 1, इन शहरों को भी मिली जगह, देखें List

सुशील ने पहले दौर में मिजोरम के लालमलस्वामा को महज 48 सेकेन्ड और दूसरे दौर में मुकुल मिश्रा को महज 45 सेकेन्ड में चित कर दिया. इस बीच गीता ने 59 किलो वर्ग के फाइनल में रविता को पटखनी दी. साक्षी ने 62 किलो वर्ग में अपनी प्रतिद्वंदी हरियाणा की पूजा को एकतरफ मुकाबले में 10-0 से मात दी. गीता के पति पवन कुमार भी 86 किलो वर्ग में शीर्ष पर रहे.