टीम इंडिया के कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा ने युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत का बचाव करते हुए कहा है कि आलोचकों से कहा है कि पंत को छोड़ दें क्योंकि वह सिर्फ टीम प्रबधंन की रणनीति पर अमल की कोशिश कर रहे हैं.

शाकिब अल हसन ने क्रिकेट से बैन के बाद फुटबॉल से नाता जोड़ा

पंत की हाल में कई मौकों पर शॉट चयन की काफी आलोचना हुई है.  राजकोट में बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टी20 में उनकी खराब विकेटकीपिंग की भी आलोचना हुई.

रोहित ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा, ‘हर दिन, हर मिनट रिषभ पंत के बारे में काफी चर्चाएं चल रही हैं.  मुझे यही लगता है कि उन्हें वही करने देना चाहिए जो वह मैदान पर करना चाहते हैं.  मैं हर किसी से अनुरोध करूंगा कि कुछ समय के लिए रिषभ पंत से निगाहें हटा लीजिए. ‘

इरफान पठान ने महमूदुल्लाह की तुलना महेंद्र सिंह धोनी से की

‘पंत हैं निर्भीक क्रिकेटर’

रोहित ने कहा, ‘ रिषभ पंत एक निर्भीक क्रिकेटर हैं और हम (टीम प्रबंधन) उन्हें वही आजादी देना चाहते हैं.  और अगर आप कुछ समय के लिए अपनी निगाहें उससे दूर रखोगे तो इससे वह बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे. ’

रोहित दिल्ली के इस युवा खिलाड़ी की लगातार आलोचना से खुश नहीं हैं.  उन्होंने इस पर निराशा व्यक्त करते हुए कहा, ‘वह 22 साल का युवा है जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खुद का मुकाम हासिल करने की कोशिश कर रहा है.  वह मैदान पर कुछ भी करता है लोग उसके बारे में बात करना शुरू कर देते हैं.  यह ठीक नहीं है.  मुझे लगता है कि हमें उसे उसका क्रिकेट खेलने देना चाहिए जो वास्तव में वह करना चाहता है. ’