नई दिल्ली: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने रविवार को कहा कि अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप से पहले खिलाड़ियों को टीम में मौके दिए जा रहे हैं ताकि वे खुद को साबित कर सकें. उन्होंने कहा कि टीम प्रबंधन विश्व कप से पहले एक संतुलित टीम तलाशने का प्रयास कर रही है. भारत को अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप से पहले करीब 30 टी-20 मैच खेलने हैं और कोहली चाहते हैं कि जो भी खिलाड़ी टीम में आ रहे हैं, उन्हें अपनी एक अलग छाप छोड़नी चाहिए.

 

कोहली ने बीसीसीआई डॉट टीवी को दिए साक्षात्कार में कहा कि हम इसे लेकर काफी स्पष्ट हैं. यह ऐसा नहीं है कि किसी को 30 मौके मिलेगा. यहां तक कि जब मैं टीम में आया था तो मैंने भी नहीं सोचा था कि मुझे 15-20 मैच खेलने को मिलेगा. उन्होंने कहा कि मुझे पता था कि मुझे तीन से पांच मौके मिलेंगे और मुझे इसी में खुद को साबित करना होगा. किसी को अगर पांच मौके मिलते हैं तो उन्हें खुद को साबित करना होगा और हम इसी स्तर का क्रिकेट खेल रहे हैं.

INDvSA: धर्मशाला में बारिश बनी विलेन, अभी तक नहीं हो सका भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच टॉस

टी-20 विश्व कप के लिए टीम के रोडमैप के बारे में पूछे जाने पर कोहली ने कहा कि हमारा मानना है कि टी-20 विश्व कप और टेस्ट चैंपियनशिप, दोनों ही हमारे ध्यान में हैं क्योंकि दोनों ही हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि समय-समय पर इसीलिए युवाओं को मौका दिया जा रहा है ताकि सही टीम संयोजन का चुनाव किया जा सके. हमें उन खिलाड़ियों को तलाशना होगा जो टीम को आगे लेकर जा सके.