नई दिल्ली: अरुण जेटली स्टेडियम में बांग्लादेश ने भारत को पहले टी-20 मैच में सात विकेट से हरा दिया. खेल के सबसे छोटे प्रारूप में बांग्लादेश की भारत पर पहली जीत है, लेकिन बांग्लादेश ने मैदान से बाहर जो समय देखा है उस लिहाज से उसके लिए यह जीत और बड़ी है. शाकिब अल हसन के फिक्सिंग में फंसने के कारण बांग्लादेश को बुरे दौर से गुजरना पड़ा है और भारत के खिलाफ टीम की जीत का अहम कारण बने मुश्फीकुर रहीम का मानना है कि भारत में जीत उनकी टीम को इस बुरे दौर से निकलने में मदद करेगी.

मुशफिकुर रहीम के अर्धशतक से बांग्‍लादेश की टी20 में भारत पर पहली जीत

मैच के बाद मुश्फीकुर ने कहा, “बीते दो-तीन सप्ताह मेरे 15 साल के क्रिकेट करियर में अभी तक के सबसे बुरे रहे हैं. बांग्लादेश से रवाना होने से पहले मैंने संवाददाताओं से कहा था कि सही रास्ते पर लौटने का एक ही तरीका है वो है भारत में कुछ जीतें. इससे टीम के और देश के चेहरे पर मुस्कुराहट लौटेगी.” इस मुश्किल भरे माहौल में टीम को संयमित रखने के लिए मुश्फीकुर ने कोच रसेल डोमिंगो का भी शुक्रिया अदा किया है.

भारत के खिलाफ पहली टी20I जीत के बाद महमदुल्लाह ने बांग्लादेश के ऑलराउंड प्रदर्शन को सराहा

उन्होंने कहा, “हम यहां अंडरडॉग्स की तरह आए थे. हमने बीते तीन सप्ताह में जो स्थिति झेली है उससे निपटने में कोच ने भी हमारी मदद की और मैं इसके लिए उन्हें शुक्रिया कहना चाहता हूं. उस स्थिति से वापस आना, युवाओं को स्वंत्रता देना, उन्हें आत्मविश्वास देना. आप चाहे एक ओवर में 20 रन खाएं या पहली ही गेंद पर आउट हो जाएं, आप फिर भी टीम के सदस्य हैं.”