नई दिल्ली. इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट का परिणाम क्या होगा. टीम इंडिया हारेगी या जीतेगी. सीरीज में हार और जीत का अंतर क्या होगा. इन सारे सवालों के जवाब तो भारत के इंग्लैंड दौरे के खत्म होने के बाद मिलेंगे. लेकिन, उससे पहले दो भारतीय खिलाड़ियों के लिए ये सीरीज उनके करियर की आखिरी टेस्ट सीरीज में तब्दील होती दिख रही है. Also Read - केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने अभ्यास के लिए निकाला नया तरीका, VIDEO देखें

दिनेश कार्तिक Also Read - MS Dhoni and other Indian players who's career will get affected if IPL 2020 is cancelled

श्रीलंका में खेली निदाहस ट्रॉफी के फाइनल में लगाए छक्के ने दिनेश कार्तिक की किस्मत तो पलटी लेकिन वो उसका फायदा उठा पाने में बुरी तरह नाकाम रहे. कार्तिक ने इंग्लैंड में खेली टेस्ट सीरीज की 4 पारियों में 21 रन बनाए, जिसमें उनका स्कोर कार्ड कुछ इस प्रकार रहा- 0,20,1,0. इस खास्ताहाल प्रदर्शन का नतीजा रहा कि पहले दो टेस्ट के बाद टीम में कार्तिको को साइड कर पंत को मौका मिला. बता दें कि भारतीय टेस्ट टीम के रेग्यूलर विकेट कीपर साहा इंजरी की वजह से इंग्लैंड दौरे से बाहर रहे. ऐसे में जब वो टीम में वापसी करेंगे तो दिनेश कार्तिक के टेस्ट करियर पर ग्रहण लगना तय है. Also Read - IPL 2020 : कोलकाता नाइटराइडर्स ने जेम्स फोस्टर को बनाया फील्डिंग कोच, सुभादीप घोष की जगह लेंगे

एलेस्टेयर कुक से पहले टीम इंडिया के खिलाफ आखिरी टेस्ट खेलने वाले 4 महान बल्लेबाज

मुरली विजय

बतौर ओपनर इंग्लैंड दौरे पर मुरली विजय बुरी तरह फ्लॉप रहे. उन्हें शुरुआती 2 टेस्ट में मौके मिले लेकिन वो 4 पारियों में केवल 26 रन ही बना सके. यही वजह है कि 34 साल के विजय को इंग्लैंड में आखिरी 2 टेस्ट के लिए चुनी गई टीम में भी जगह नहीं मिली. सिर्फ टेस्ट फॉर्मेट में खेलने वाले विजय को टीम से इस तरह से बाहर करना उन्हें लेकर एक बड़ा संकेत है. इसके अलावा मुरली विजय का टेस्ट क्रिकेट में औसत 39.33 का है जो इन दिनों भारत के लिए क्रिकेट खेलने वाले किसी भी बल्लेबाज के मुकाबले कम है.