नई दिल्ली. इंग्लैंड दौरे पर टीम इंडिया के ओपनर लोकेश राहुल का हाल बुरा है. उनके लिए बल्लेबाजी राई का पहाड़ बनी हुई है. इस दौरे पर 5 टेस्ट की 9 पारियों में उन्होंने 16.66 की औसत से अब तक केवल 37 रन के बेस्ट स्कोर के साथ कुल 150 रन ही बनाए हैं. बहरहाल बल्लेबाजी तो फ्लॉप है लेकिन इसकी कसक राहुल अपनी चुस्त फील्डिंग के जरिए खूब मिटा रहे हैं और सिर्फ मिटा ही नहीं रहे बल्कि नए रिकॉर्ड को अंजाम भी दे रहे हैं.

सोलकर को छोड़ा पीछे, द्रविड़ की बराबरी

केएल राहुल ने इस सीरीज में अब तक 13 कैच पकड़े हैं. इस रिकॉर्ड के साथ वो इंग्‍लैंड में ऐसा करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं. इससे पहले इंग्‍लैंड के खिलाफ एक सीरीज में सबसे अधिक कैच पकड़ने का रिकॉर्ड एकनाथ सोलकर के नाम था, जिन्‍होंने 1972-73 में 12 कैच पकड़ने में सफलता हासिल की थी.

pjimage (3)

इंग्लैंड के खिलाफ बने 48 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने के अलावा केएल राहुल ने राहुल द्रविड़ के 13 कैच पकड़ने के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर ली है. द्रविड़ ने 2004 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ खेले बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी के 4 मैचों में 13 कैच पकड़े थे

लारा- सिम्पसन ने 2-2 बार पकड़े 13 कैच

वर्ल्ड क्रिकेट में देखें तो वेस्‍टइंडीज के ब्रायन लारा और ऑस्‍ट्रेलिया के बॉब सिम्‍पसन ने 13-13 कैच दो बार पकड़े हैं. लारा ने भारत के खिलाफ 2006 में और इंग्‍लैंड के खिलाफ 1997-98 में ऐसा किया. जबकि सिम्‍पसन ने ऐसा 1957-58 में साउथ अफ्रीका और 1960-61 में वेस्‍टइंडीज के खिलाफ किया था.

98 साल पुराना है वर्ल्ड रिकॉर्ड

अगर एक सारीज में सबसे ज्यादा कैच के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बात की जाए तो ये ऑस्‍ट्रेलिया के जैक ग्रेगरी के नाम है, जिन्‍होंने 1920-21 के एशेज सीरीज में 15 कैच पकड़े थे. जबकि 1974-75 की एशेज सीरीज में ग्रेग चैपल ने 14 कैच अपने नाम किए थे.

राहुल के निशाने पर चैपल और ग्रेगरी

pjimage (1)

साफ है लोकेश राहुल के पास मौका भी है और दस्तूर भी. खाते में 13 कैच दर्ज हैं. ओवल टेस्ट में इंग्लैंड की एक पारी अभी भी बाकी है. अगर राहुल इसमें 2 कैच पकड़ लेते हैं तो भारतीय रिकॉर्ड को तोड़कर वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे और अगर 3 कैच पकड़ते हैं तो क्रिकेट इतिहास के 98 साल पुराने रिकॉर्ड को पूरी तरीके से अपने नाम कर लेंगे.