नई दिल्ली. इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट में टीम इंडिया की टांय-टांय फिस्स हो चुकी है. खेल 5 दिन का था लेकिन सिर्फ 4 दिन में विराट एंड कंपनी के पांव ऐसे उखड़े हारने के बड़े से बड़े रिकॉर्ड भी पानी मांगते नजर आए. वैसे ये 4 दिन भी गिनाने के हैं क्योंकि पहले दिन तो खेल हुआ ही नहीं. यानी सिर्फ 3 दिन लगे इंग्लैंड को क्रिकेट के मक्का पर टीम इंडिया को पानी-पानी करने में. बड़े-बुजुर्ग कह गए हैं कि हर चीज का हिसाब होना चाहिए और लॉर्ड्स टेस्ट का हिसाब ये है कि ये टेस्ट क्रिकेट के पिछले 100 सालों के इतिहास का तीसरा सबसे छोटा टेस्ट मैच रहा. इसमें कुल 1023 गेंदें फेंकी गई, जिसमें इंग्लैंड ने भारत की दोनों पारियों को उखाड़ फेंककर विराट कोहली को उनकी कप्तानी के सबसे बड़ी और शर्मनाक हार से दो-चार कराने के लिए सिर्फ 494 गेंदों को अपना हथियार बनाया.

‘विराट’ हार से पुराने रिकॉर्ड पानी-पानी!

गेंदों के नजरिए तो आपने लॉर्ड्स में विराट एंड कंपनी की लुटिया डूबने की कहानी जान ली. अब जरा रिकॉर्ड बुक के पन्नों में ये हार कैसी है वो भी समझ लिजिए. लॉर्ड्स टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत को पारी और 159 रन के बड़े अंतर से हराते हुए सीरीज में 2-0 की बढ़त बनाई. ये विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया को पारी से मिली पहली हार है, जो कि उनके कप्तानी करियर के 37वें टेस्ट में मिली है. इससे पहले भारत को आखिरी बार पारी की हार का सामना साल 2014 में धोनी की कप्तानी में इंग्लैंड के खिलाफ ही ओवल मैदान पर करना पड़ा था. इसके अलावा लॉर्ड्स में मिली ये भारत की दूसरी बड़ी इनिंग डिफिट है. इससे पहले साल 1974 में अजीत वाडेकर की कप्तानी में टीम इंडिया को लॉर्ड्स में पारी और 285 रन से हार का सामना करना पड़ा था.

विराट युग में ऐसी हार पहले कहां?

विराट कोहली की कप्तानी में ये पहली बार है जब टीम इंडिया मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए हारी है. वहीं, टेस्ट क्रिकेट में 1974 बर्मिंघम और 2002 हैमिल्टन के बाद ये तीसरी बार है जब टीम इंडिया मैच का पहला दिन पूरी तरीके से बारिश में धुल जाने के बाद हारी है.

इंग्लैंड को सुकून देने वाली भारत की हार

विराट एंड कंपनी पर जीत के साथ ही इंग्लैंड का पिछले 5 मैचों से लॉर्ड्स पर एशियाई टीमों के खिलाफ न जीत पाने के सिलसिले का भी अंत हो गया. ये लॉर्ड्स पर इंग्लैंड को पारी से मिली तीसरी जीत है. इससे पहले इंग्लैंड ने साल 2005 में बांग्लादेश को हराया था जबकि 2010 में पाकिस्तान को पारी से शिकस्त दी थी.