नई दिल्ली.  श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा का मानना है कि यह कहना गलत है कि भारतीय क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली पर ज्यादा निर्भर है. उन्होंने इंग्लैंड में पहले दो टेस्ट मैचों में टीम के खराब प्रदर्शन के लिए तैयारी की कमी को जिम्मेदार ठहराया. इंग्लैंड ने पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला में बर्मिंघम और लार्ड्स में खेले गये पहले दो मैचों में जीत दर्ज की, लेकिन भारतीय टीम के लिए बड़ी परेशानी की बात यह है कि सिर्फ कोहली ही रन बनाने में सफल रहे हैं.Also Read - India vs Pakistan: शोएब अख्‍तर ने Rohit Sharma को बताया भारत का इंजमाम, Virat Kohli को लेकर कही ये बात

Also Read - India Vs Pakistan T20 World Cup 2021- भारत मजबूत लेकिन बड़े हौसलों वाली टीम जीतेगी मैच: Shoaib Akhtar

भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट से पहले मुश्किल में इंग्लैंड, टीम को लेकर हुई टेंशन टाइट! Also Read - T20 World Cup में Virat Kohli को कभी आउट नहीं कर पाया है पाकिस्तान, देखें आंकड़े

संगकारा ने कहा, ‘‘ यह दूसरे बल्लेबाजों के लिए लगभग अनुचित है क्योंकि हमने पिछले कुछ वर्षों से विराट को ऐसी बल्लेबाजी करते देखा है. यह अविश्वसनीय सा है और वह एक अविश्वसनीय खिलाड़ी है, लेकिन टीम के दूसरे खिलाड़ी भी शानदार हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ पुजारा और रहाणे भी अच्छे बल्लेबाज हैं. पुजारा का टेस्ट क्रिकेट में आसत 50 का है, रहाणे का भी विदेशों में 50 का औसत है. टीम में लोकेश राहुल भी हैं, जो फार्म में होते हैं तो शानदार खेलते हैं. मुरली विजय, शिखर धवन, दिनेश कार्तिक को भी कमतर नहीं आंका जा सकता.’’

टेस्ट श्रृंखला से पहले भारतीय टीम ने सिर्फ एक अभ्यास मैच खेला था जिसे तीन दिनों का किये जाने पर विवाद भी हुआ. संगकारा का मानना है कि भारत को कम अभ्यास का खामियाजा भुगतना पड़ा है. उन्होंने कहा, ‘‘ टीम ने यहां संघर्ष किया है जिसकी एक वजह तैयारियों में कमी हो सकती है। इसलिए उन्हें वास्तव में कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता है क्योंकि आप टेस्ट मैचों में खेलते समय तैयारी नहीं कर सकते हैं. आपको अभ्यास मैचों और प्रशिक्षण के दौरान इंग्लैंड के गेंदबाजों का तोड़ ढूंढ कर अपना आत्मविश्वास बढ़ाना होगा.’’

लार्ड्स में बारिश से प्रभावित मैच में भारतीय टीम तकनीकी तौर पर दो दिन के अंदर पारी और 159 रन से हार गयी. पूर्व श्रीलंकाई कप्तान ने इसके लिए हालात और टीम चयन को जिम्मेदार बताया.

उन्होंने कहा, ‘‘ भारत के लिए टास के समय से ही स्थिति मुश्किल हो गयी थी. दूसरे दिन परिस्थितियां गेंदबाजी के लिए शानदार थी. जेम्स एंडरसन और क्रिस वोक्स ने इसका फायादा उठाया और टीम 107 रन पर सिमट गयी. अगले दिन हालात बल्लेबाजी के लिए बेहतर हो गए. मोहम्मद शमी शानदार गेंदबाजी कर रहे थे फिर भी वापसी करना मुश्किल था.’’