नई दिल्ली. टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड फिलहाल 2-0 से बेशक आगे है. लेकिन, ट्रेंट ब्रिज टेस्ट पर विराम लगते ही इस फीगर का कायाकल्प हो जाएगा. सीरीज के तीसरे मैच के खत्म होते ही इंग्लैंड का 2-0 भारत के फेवर में 1-2 में बदला दिखेगा. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ट्रेंट ब्रिज में टीम इंडिया की जीत आसान दिख रही है. और, इसका सबूत है चौथी पारी का आंकड़ा.

हार्दिक पांड्या ने इंग्लैंड पर उतारा माइकल होल्डिंग का ‘गुस्सा’, दिया करारा जवाब

चौथी पारी के आंकड़े में छिपी भारत की जीत

दरअसल, नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज मैदान पर अब तक जो सबसे सफल चेज रहा है वो 284 रन का रहा है, जिसे इंग्लैंड ने साल 2004 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 6 विकेट खोकर हासिल किया था. और, यहां भारत ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद 292 रन की बढ़त बना ली है. यही नहीं मैच में अभी पूरे 3 दिन बाकी है तो जाहिर है कोई हड़बड़ी नहीं दिखाते हुए भारत तीसरे दिन कम से कम एक या दो सेशन भारत बल्लेबाजी और करेगा. यानी इंग्लैंड को 292 रन का नहीं बल्कि और बड़ा टारगेट मिलेगा.

INDvsENG: रिषभ पंत ने इंग्लैंड में किया कमाल, एशिया में बजा डंका

इतिहास भारत के साथ

वैसे भी इतिहास गवाह है कि पहली पारी में पहले बल्लेबाजी करते हुए 300 प्लस का स्कोर बनाने के बाद भारत इंग्लैंड में एक भी टेस्ट नहीं हारा है. ट्रेंट ब्रिज टेस्ट में भारत ने पहली पारी में 329 रन बनाए थे. जवाब में हार्दिक पांड्या की घातक गेंदबाजी के आगे इंग्लैंड की टीम पहली पारी में सिर्फ 161 रन पर ढेर हो गई. इसके बाद भारत ने दूसरी पारी में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक 2 विकेट खोकर 124 रन बना लिए थे.

ट्रेंट ब्रिज के आंकड़े

भारत ने अब तक ट्रेंट ब्रिज में 7 टेस्ट खेले हैं, जिसमें 1 जीता, 2 हारे और 3 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं. भारत ने एकमात्र टेस्ट ट्रेंट ब्रिज में जो जीता है वो साल 2007 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में जीता था. ऐसे में विराट एंड कंपनी अगर ट्रेंट ब्रिज में जीत दर्ज करती है तो ये इस मैदान पर टीम इंडिया की दूसरी जीत होगी.