नई दिल्ली. नॉटिंघम में जीत का स्वाद चखने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली अब सीरीज में बराबरी करने को बेताब है. इसके लिए वो नेट्स पर जमकर पसीना तो बहा ही रहे हैं साथ ही कुछ नए प्रयोग भी कर रहे हैं. विराट का ये नया प्रयोग है उनकी लाल गेंद और गुलाबी गेंद से एक साथ की जाने वाली प्रैक्टिस. दरअसल, ये प्रैक्टिस विराट कोहली को साउथैम्प्टन में इंग्लैंड की स्विंग गेंदबाजी से निपटने में मदद करेगी.

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि विराट कोहली कैसे गुलाबी और लाल गेंदों पर साथ में ही प्रैक्टिस कर रहे हैं. वो दोनों ही गेंदों पर एक ही तरह का ड्राइव लगा रहे है. बस दोनों गेंदों पर शॉट खेलने में जो फर्क है वो टाइमिंग का है. Also Read - #MainBhiCOVIDWarrior : विराट, सचिन, युवी सहित ये स्‍टार क्रिकेटर हैं कोरोना वॉरियर्स

स्विंग का ‘लाल-गुलाबी’ इलाज Also Read - Wisden Cricketer Of The Year: लगातार 3 साल शीर्ष पर रहने के बाद विराट कोहली से छिना ताज, इंग्लिश खिलाड़ी को मिला मौका

लाल और गुलाबी गेंद से प्रैक्टिस का फायदा विराट कोहली को स्विंग से निपटने में कैसे मिलेगा अब जरा वो समझिए. गुलाबी गेंद अपने नेचर के मुताबिक ज्यादा स्विंग होती है. इस गेंद से प्रैक्टिस कर विराट को मैदान में नई गेंद से स्विंग को खेलने में मदद मिलेगी. जबकि लाल गेंद से की गई प्रैक्टिस का फायदा विराट को पुरानी गेंद से होने वाली रिवर्स स्विंग के खिलाफ अपने शॉट खेलने में मिलेगा. Also Read - युवराज सिंह का कहना- टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहते हैं युवा भारतीय खिलाड़ी

विराट की मेहनत से हारेगा इंग्लैंड

2014 के अपने पहले इंग्लैंड दौरे पर विराट एंडरसन की स्विंग गेंदों के सामने बुरी तरह से बेबस दिखे थे. इस बार वो उन्हें अपनी मेहनत से करारा जवाब दे रहे हैं. यही नहीं हर टेस्ट के साथ उनकी मेहनत भी बढ़ती जा रही है ताकि कोई चूक न रह जाए. ये ताजा प्रैक्टिस विराट के उसी मेहनत की आगे की कड़ी है.