INDvsNZ Semi Final Match: ओल्ड ट्रेफर्ड ग्राउंड पर खेला जा रहा सेमीफाइनल मैच अब रोमांच के चरम पर पहुंच गया है. शुरुआत से संघर्ष कर रही भारतीय टीम रवींद्र जडेजा के क्रीज पर उतरने के बाद एक बार फिर टीम इंडिया खेल में लौट आई है. जडेजा की कोशिशें न्यूजीलैंड के जबड़े से जीत छीनकर लाने की है. इसे देखते हुए स्टेडियम में भारतीय प्रशंसकों का उत्साह चरम पर है. चारों ओर से जडेजा और धोनी के नाम का शोर मच रहा है. भारत के लिए कठिन दिख रहे इस मैच में जडेजा ने अपने नायाब खेल से यह स्थिति पैदा की है. जिस मैच में कोहली, रोहित जैसे बल्लेबाज एक रन बनाकर आउट हो गए, उस खेल में जडेजा ने मात्र 39 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा कर भारत की उम्मीदें बरकरार रखी हैं.

ताजा समाचार यह है कि भारत ने 45 ओवर का खेल समाप्त होने तक 197 रन बना लिए हैं. अब भी करीब 40 रन से ज्यादा का लक्ष्य बचा हुआ है. इस बीच जडेजा के साथ क्रीज के दूसरे छोर पर महेंद्र सिंह धोनी धीमी बल्लेबाजी के साथ जमे हुए हैं. इन दोनों बल्लेबाजों के प्रदर्शन पर ही भारत की उम्मीदें भी टिकी हैं. अगर यह मैच भारत जीत जाता है, तो न सिर्फ फाइनल के लिए उसका रास्ता साफ हो जाएगा, बल्कि रवींद्र जडेजा की पारी के लिए भी मैच को याद रखा जाएगा. आपको बता दें कि जडेजा ने न्यूजीलैंड के साथ खेले गए वार्म अप मैच में भी अच्छा स्कोर बनाया था. शायद इसी को देखते हुए भारतीय टीम प्रबंधन ने उन्हें इस मैच के लिए चुना. जडेजा ने इस चयन को साबित कर दिखाया.

इससे पहले भारतीय टीम की शुरुआत आज बहुत धीमी रही. बेहद लचर अंदाज में शुरू हुई पारी में पहले रोहित शर्मा और उसके बाद विराट कोहली, केएल राहुल और फिर दिनेश कार्तिक के विकेटों के गिरने से भारतीय पारी शुरुआत में ही लड़खड़ा गई. बाद में ऋषभ पंत और हार्दिक पांड्या ने जरूर भारतीय पारी को संभालने का प्रयास किया, लेकिन ये दोनों बल्लेबाज भी भारतीय टीम का स्कोर 100 तक नहीं पहुंचा सके. भारतीय खिलाड़ियों के लचर प्रदर्शन का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि शुरुआती 10 ओवर में जहां टीम इंडिया ने 4 विकेट गंवा दिए, वहीं 100 रन के भीतर 6 खिलाड़ी पवेलियन लौट गए थे.