INDvsNZ Semi Final Match: इंग्लैंड के मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड ग्राउंड पर खेला जा रहा वर्ल्ड कप का पहला सेमीफाइनल मैच इतिहास में कम स्कोर वाले खेल के रूप में याद रखा जाएगा. यह महज संयोग नहीं है कि विश्व कप के लीग मैचों में जहां 300 से ऊपर कई टीमों ने रन बनाए, वहीं सेमीफाइनल का पहला खेल 250 रनों तक भी नहीं जा पाया. इतना ही नहीं, इस मैच में शुरुआती 10 ओवर के पावरप्ले के दौरान दोनों टीमों की सुस्त बल्लेबाजी भी संयोग ही कही जाएगी. पहली पारी में जहां न्यूजीलैंड की टीम शुरुआती 10 ओवरों में कुल जमा 27 रन बना पाई थी, वहीं भारत के खिलाड़ी तो इससे कम रनों पर ही संघर्ष करते दिखे. टीम इंडिया ने शुरुआती 10 ओवरों के खेल में न सिर्फ अपने 3 महत्वपूर्ण विकेट गंवा दिए, बल्कि सिर्फ 24 रन ही बना पाई.

यह भी पढ़ें – ICC World Cup 2019: सेमीफाइनल में जीत या हार से पहले न्यूजीलैंड पर लगा ये ‘दाग’

विश्व कप के लीग मैचों में कई टीमों ने 300 से ज्यादा रन बनाए हैं. कुछ मैचों में तो ऐसा भी लगा कि रनों का स्कोर 400 के पार भी जा सकता है. उदाहरण के तौर पर इंग्लैंड के लीग मैचों को याद करें तो अंग्रेज बल्लेबाजों ने 350 के स्कोर से भी ज्यादा का पहाड़ खड़ा किया. वहीं, बांग्लादेश की टीम ने दूसरी पारी में असंभव से दिख रहे लक्ष्य का पीछा करते हुए भी स्कोर 300 के पार तक पहुंचाया. लेकिन सेमीफाइनल मैच में पहले न्यूजीलैंड और बाद में भारतीय टीम शुरुआती पावरप्ले में ही लड़खड़ाती नजर आई. वर्षा से बाधित इस मैच में न्यूजीलैंड ने 10 ओवर में एक विकेट के नुकसान पर महज 27 रन बनाए. इसके जवाब में खेलने उतरी भारतीय टीम तो इससे भी कम स्कोर पर सिमट गई. भारतीय खिलाड़ी शुरुआती पावरप्ले में न सिर्फ रनों के आधार पर पिछड़े, बल्कि विकेटों का तो जैसे पतझड़ ही लगा दिया. टीम इंडिया ने शुरुआती 10 ओवर में सिर्फ 24 रन बनाए, जबकि इसके 4 विकेट भी गिर गए.

INDvsNZ Semi Final Match: टीम इंडिया के बल्लेबाजों में ‘तू चल, मैं आया’ का सिलसिला

इस बीच, ताजा समाचार मिलने तक भारतीय टीम ने 4 विकेटों के नुकसान के बाद 14 ओवर में कुल 42 रन बनाए हैं. क्रीज पर हार्दिक पांड्या और ऋषभ पंत अभी बल्लेबाजी कर रहे हैं. रोहित शर्मा, विराट कोहली, केएल राहुल और दिनेश कार्तिक के आउट होने के बाद अब इन दोनों युवा बल्लेबाजों पर ही टीम इंडिया को फाइनल में ले जाने की जिम्मेदारी है. इनके बाद महेंद्र सिंह धोनी और रवींद्र जडेजा जैसे बल्लेबाज ही खेलने को बचे हैं. विश्व कप के इतिहास में शायद यह पहला ऐसा सेमीफाइनल मैच है, जिसमें किसी टीम ने शुरुआती ओवरों में इतने कम रन बनाए और ढेर सारे विकेट भी गंवा दिए हैं. बहरहाल, वर्ल्ड कप 2019 के पहले सेमीफाइनल का नतीजा अब से कुछ घंटों में आ जाएगा. आज टीम इंडिया के खिलाड़ियों के जज्बे का इम्तहान है कि वे अपनी टीम को फाइनल मैच तक ले जाएं. वरना विश्व कप के लीग मैचों में सिर्फ एक मैच हारने वाली टीम इंडिया के लिए इस टूर्नामेंट का सफर कहीं यहीं तक न रह जाए.