नई दिल्ली. इंसान जब अपनी गलती से सबक लेता है तो उसे दोहराने से बचता है. लेकिन लोकेश राहुल इस मामले में आदत से मजबूर दिख रहे हैं. यही वजह है कि सिर्फ एक हफ्ते के भीतर उन्होंने क्रिकेट फील्ड एक ही गलती को दूसरी बार कर दिखाया है. राजकोट टेस्ट में लोकेश राहुल पहली पारी में शून्य पर आउट हुए. राहुल गैबरियल की अंदर आती गेंद को नहीं समझ सके और LBW आउट हो गए. हालांकि अंपायर के फैसले को राहुल ने रिव्यू लेकर चुनौती दे दी, और उनका ये फैसला गलत साबित हुआ. नतीजा ये हुआ कि भड़के फैंस ने उनके रिव्यू लेने पर बैन लगाने की मांग उठा दी है.

एशिया कप की गलती दोहराई

दरअसल, इससे पहले एशिया कप में भी राहुल ने रिव्यू ऐसे ही बर्बाद किया था, जिस वजह से महेन्द्र सिंह धोनी को अंपायर के गलत फैसले का शिकार होना पड़ा था. अपने गलत रिव्यू लेने को लेकर तब केएल राहुल ने कहा था कि वो फिर कभी ऐसा नहीं करेंगे. लेकिन राजकोट में उन्होंने अपनी बातों पर अडिग न रहते हुए गलती दोहरा दी.

टेस्ट क्रिकेट में भारत के दूसरे सबसे युवा ओपनर बने पृथ्वी शॉ, ICC ने दी बधाई

बांगड़ के अनचाहे रिकॉर्ड की बराबरी

लोकेश राहुल पिछली 8 पारियों से या तो एलबीडब्ल्यू या बोल्ड हो रहे हैं जो उनकी बल्लेबाजी में तकनीकी खामी की ओर इशारा करता है. साल 2002 के बाद पहली बार ऐसा हो रहा है जब कोई भारतीय ओपनर वेस्टइंडीज के खिलाफ शून्य पर आउट हुआ है. इससे पहले शून्य पर पवेलियन लौटने वाले आखिरी भारतीय ओपनर संजय बांगड़ थे, जो इस वक्त टीम इंडिया के बैटिंग कोच हैं.