नई दिल्ली. पृथ्वी शॉ का इंतजार हुआ खत्म. वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट टेस्ट में उन्हें डेब्यू करने का मौका मिल गया. अब बस जरुरत है इस मौके को भुनाने की. वैसे, टेस्ट मैच के शुरू होने से एक दिन पहले ही पृथ्वी शॉ के टेस्ट डेब्यू की खबर सामने आ गई थी. लेकिन, इस पर फाइनल मुहर तब लगी जब टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने उन्हें टेस्ट कैप दी.

भारत के दूसरे युवा टेस्ट ओपनर

पृथ्वी शॉ ने 18 साल 329 दिन में टेस्ट डेब्यू किया. भारत के लिए टेस्ट डेब्यू करने वाले वो दूसरे सबसे युवा ओपनर हैं. पृथ्वी से पहले साल 1955 में न्यूजीलैंड के खिलाफ विजय मेहरा ने 17 साल 265 दिन में भारत के लिए टेस्ट डेब्यू किया था. दूसरे सबसे युवा ओपनर होने के अलावा पृथ्वी भारत के लिए टेस्ट डेब्यू करने वाले 293वें क्रिकेटर हैं.

ICC ने दी बधाई

पृथ्वी शॉ की इस शानदार उपलब्धि को क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था ICC ने भी सराहा है और उन्हें बधाई दी है.

राजकोट के ‘शतक राजा’

कमाल की बात ये है कि पृथ्वी शॉ का टेस्ट डेब्यू उसी मैदान से हो रहा है जहां से उन्होंने अपने रणजी ट्रॉफी करियर की शुरुआत की थी. बता दें कि राजकोट में ही पिछले साल जनवरी में पृथ्वी शॉ का रणजी डेब्यू भी तमिलनाडु की टीम के खिलाफ हुआ था. राजकोट में रणजी ट्रॉफी का डेब्यू मैच खेलते हुए पृथ्वी शॉ ने दूसरी पारी में शानदार शतक जड़ा था और मुंबई को जीत दिलाई थी. अब कुछ वैसी उम्मीद राजकोट में एक बार फिर उनसे भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में भी होगी.