नई दिल्ली. रिषभ पंत के लिए हैदराबाद टेस्ट की कहानी भी राजकोट से जुदा नहीं रही. वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले दोनों टेस्ट में उनकी पारी का अंत नाइटीज में जाकर हो गया. पंत ने राजकोट में खेले पहले टेस्ट में 92 रन बनाए और हैदराबाद टेस्ट में भी वो 92 रन के ही स्कोर पर पवेलियन लौटे. यानी, देखा जाए तो कुछ नहीं बदला सिवाए उन्हें आउट करने वाले गेंदबाज के. राजकोट में पंत स्पिनर बिशु का शिकार हुए थे और हैदराबाद टेस्ट में उनका शिकार तेज गेंदबाज गैब्रियल ने किया. Also Read - रिषभ पंत की जगह इस अनकैप्‍ड खिलाड़ी को मिल सकता है मौका, घरेलू क्रिकेट में है शानदार रिकॉर्ड

हैदराबाद में दिखी राजकोट की फिल्म Also Read - IPL 2020: रिषभ पंत की चोट को लेकर कप्तान श्रेयस अय्यर ने दी अहम जानकारी, बोले-मैंने डॉक्टर से बात की और उन्होंने...

तीसरे दिन का खेल जब शुरू हुआ तो हर किसी को उम्मीद थी कि पंत राजकोट में जो काम अधूरा छोड़ आए थे, उसे हैदराबाद में अंजाम देंगे. लेकिन, पहले तो रहाणे के आउट होने से उनके साथ बनी उनकी शतकीय साझेदारी का अंत हुआ और फिर उनकी पारी का भी दि एण्ड हो गया. हैदराबाद टेस्ट में पंत ने 134 गेंदों का सामना करते हुए 11 चौके और 2 छक्के के दम पर 92 रन बनाए. Also Read - IPL 2020 MI vs DC: दिल्ली बनाम मुंबई के मुकाबले में होगी बुमराह और पंत के बीच कड़ी टक्कर, आंकड़ों में जानिए कौन किस पर भारी

द्रविड़ के बाद बने दूसरे भारतीय

टेस्ट क्रिकेट में पंत लगातार दो पारियों में नाइन्टीज में आउट होने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज है. पंत से पहले ऐसा भारतीय क्रिकेट की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ के साथ भी हो चुका है. साल 1997 में श्रीलंका के खिलाफ खेले टेस्ट में द्रविड़ लगातार दो पारियों में 92 और 93 रन पर आउट हो चुके थे.

रहाणे के साथ शतकीय साझेदारी

राजकोट की ही तरह हैदराबाद टेस्ट में भी पंत सिर्फ 8 रन से अपना शतक चूक गए. लेकिन इस चूक से पहले वो भारत को वेस्टइंडीज के खिलाफ बढ़त दिला चुके थे. उन्होंने 5वें विकेट के लिए रहाणे के साथ 152 रन जोड़े, जिसने भारत को मैच में फ्रंटफुट पर ला खड़ा किया है.