नई दिल्ली. वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में भारत ICC टेस्ट रैंकिंग में अपनी बादशाहत को मजबूत करने के इरादे से उतरेेगा. इंग्लैंड के खिलाफ 1-4 से टेस्ट सीरीज गंवाने के बाद उसकी नंबर 1 की टेस्ट टीम रैंकिंग तो सलामत रही थी, लेकिन रेटिंग प्वाइंट में 10 अंक की भारी गिरावट आई थी. हालांकि, वेस्टइंडीज को क्लीन स्वीप से हराने के बाद भी भारत को अंकों के मामले में कोई बड़ा फायदा नहीं होगा लेकिन ये है कि ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर वो टेस्ट की बेस्ट टीम के तौर पर ही कदम रखेगा.

रैंकिंग के ‘रण’ में भारत

ICC टेस्ट रैंकिंग में भारत 115 अंक के साथ फिलहाल टॉप पर है. अब अगर वह कैरेबियाई टीम के खिलाफ सीरीज 2-0 से भी जीत लेता है तो भी उसे एक ही अंक का फायदा होगा क्योंकि दोनों टीमों की रैंकिंग और रेटिंग प्वाइंट में बड़ा अंतर है.  दूसरी तरफ अगर भारत को 0-2 की शिकस्त का सामना करना पड़ता है तो उसके सिर्फ 108 अंक रह जाएंगे. और, अगर आस्ट्रेलिया पाकिस्तान को 2-0 से हराकर देता है तो फिर उसे पीछे छोड़ देगा.

ऑस्ट्रेलिया बिगाड़ सकता है खेल!

वेस्टइंडीज की टीम हालांकि अगर 2-0 से सीरीज जीत भी जाती है तो भी पाकिस्तान और श्रीलंका से अपने अंकों के अंतर को ही कम कर पाएगी लेकिन आठवें स्थान पर रही बनी रहेगी. दूसरी तरफ पाकिस्तान की टीम  यूएई में आस्ट्रेलिया की मेजबानी करेगी और दोनों टीमों के पास अपनी टेस्ट रैंकिंग में सुधार करने का मौका होगा.

रैंकिंग की ‘माथापच्ची’

पाकिस्तान अगर 2-0 से जीत दर्ज करता है तो श्रीलंका को पीछे छोड़कर छठे स्थान पर आ जाएगा जबकि आस्ट्रेलिया की टीम अगर 1-0 से भी जीत दर्ज करती है तो दक्षिण अफ्रीका को पछाड़कर भारत के बाद दूसरा स्थान हासिल कर लेगी. पाकिस्तान अगर दोनों मैच जीत जाता है तो उसके 97 अंक हो जाएंगे और दशमलव अंक तक गणना करने पर वह श्रीलंका को पीछे छोड़ देगा. आस्ट्रेलिया के अभी 106 अंक है और वह केवल दशमलव अंक के आधार दक्षिण अफ्रीका से पीछे है और सीरीज जीतने पर दूसरे नंबर पर आ जाएगा. आस्ट्रेलिया के 1-0 की जीत से 107 जबकि 2-0 की जीत से 109 अंक हो जाएंगे.