भारत और वेस्टइंडीज के बीच 3 मैचों की वनडे सीरीज 15 दिसंबर से खेली जाएगी. पहले वनडे के लिए दोनों टीमें चेन्नई पहुंच चुकी हैं. टीम इंडिया ने टी-20 सीरीज में विंडीज को 2-1 से मात दी थी.

IPL 2020 Auction: 332 खिलाड़ी हुए शॉर्टलिस्ट, जानिए- किस खिलाड़ी की कितनी है कीमत, देखें पूरी लिस्ट

वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के सहायक कोच रोडी एस्टविक ने विराट कोहली को ‘पैमाना’ बताते हुए कहा है कि लक्ष्य हासिल करने के लिए उनकी टीम के सभी खिलाड़ियों को भारतीय कप्तान की तरह कड़ी मेहनत करनी चाहिए.

‘युवा खिलाड़ियों को कोहली से सीख लेनी चाहिए’

एस्टविक ने कहा कि शिमरोन हेटमेयर और निकोलस पूरन जैसे टीम के युवा खिलाड़ियों को विरोधी कप्तान कोहली से सीख लेनी चाहिए.

उन्होंने शुक्रवार को कहा, ‘टीम में हेटमेयर, पूरन और होप जैसे खिलाड़ियों के होने से यह हमारे लिए रोमांचक समय है. हमें ऐसे युवा बल्लेबाज मिले हैं, जो बेहतर प्रगति कर रहे हैं. अहम बात यह है कि आप कड़ी मेहनत करने के लिए कैसे तैयार होते हैं. आपको विराट कोहली में एक पैमाना मिला है. वह ऐसा खिलाड़ी है जो जिम में काफी मेहनत करते हैं.’

‘डीजे’ ब्रावो ने संन्यास तोड़ इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी का किया ऐलान, टी-20 के लिए खुद को बताया उपलब्ध

उन्होंने कहा, ‘उनसे काफी खिलाड़ी सीख सकते हैं. तभी हमारे लिए मौका होगा. कड़ी मेहनत के बिना सफलता नहीं मिलेगी. कड़ी मेहनत कई बार उबाऊ होता है लेकिन इससे आपको सफलता मिलेगी. एक बार जब वे काम करना शुरू करेंगे और इस प्रक्रिया से जूझेंगे तब उनके पास मौका होगा.’

उन्होंने कहा कि इस दौरे पर खिलाड़ियों ने शानदार खेल दिखाया है लेकिन क्रिकेट में आप कभी आराम नहीं कर सकते है.

उन्होंने कहा, ‘वे इस दौरे पर शानदार रहे हैं, हम उनकी गलती नहीं मान सकते. उन्होंने वास्तव में कड़ी मेहनत की है. वह अब परिणाम में दिखेगा. अगर आप टी-20 में हेटमेयर के खेल को देखें तो यह रोमांचक था. अब हम एक लंबे प्रारूप में जा रहे है. लोग इस तथ्य को भूल जाते हैं कि बहुत कम उम्र में, उनके पास पहले से ही चार वनडे शतक हैं. जाहिर है वह काफी प्रतिभावान है. क्रिकेट में आप आराम नहीं कर सकते.’

टी-20 सीरीज के प्रदर्शन से खुश है वेस्टइंडीज

एस्टविक ने कहा कि वेस्टइंडीज ने टी20 सीरीज में भारत से अंतर को कम करने के मामले में अच्छा प्रदर्शन किया.

उन्होंने कहा, ‘हम टी-20 में अपने प्रदर्शन से खुश हैं. इन दोनों टीमों ने जब वेस्टइंडीज में तीन मैचों की टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेली थी तब काफी अंतर था. हम खुश है कि उस अंतर को कम (टी20 में) कर पाए और उम्मीद है कि 50 ओवर के प्रारूप में भी ऐसा ही होगा.’

पिछले कुछ समय से विंडीज का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है, खासकर लिमिटेड ओवर की क्रिकेट में. विंडीज की कोशिश वनडे में शानदार प्रदर्शन कर भारत से पिछली हार का बदला चुकता करने की होगी. हालांकि भारतीय टीम विपक्षी खिलाड़ियों को अच्छी तरह जानती हैं जिसे वो हल्के में लेने की भूल कतई नहीं करेगी.