नई दिल्ली। टीम इंडिया के लिए कोच के इंटरव्यू की प्रक्रिया शुरू हो गई है. क्रिकेट सलाहकार समिति के सदस्य सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण कोच पद के उम्मीदवारों का मुंबई में इंटरव्यू ले रहे हैं. उम्मीद है कि कुछ दिनों में ही टीम के नए कोच के नाम पर फैसला हो जाए. Also Read - ओलंपिक में हिस्सा लेगी भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम!

ये हैं दावेदार

कोच पद के लिए वीरेंद्र सहवाग, रवि शास्त्री, रिचर्ड पाइबस, लालचंद राजपूत, फिल सिमंस और टॉम मूडी प्रमुख दावेदार हैं.  भारतीय टीम के हेड कोच के लिए इन 6 लोगों का पहले इंटरव्यू करेगी.  इनमें रवि शास्त्री का दावा सबसे मजबूत नजर आ रहा है क्योंकि वह कप्तान विराट कोहली की पहली पसंद हैं.

सहवाग पहुंचे

सीएसी सदस्य सौरव गांगुली और लक्ष्मण मुंबई भी आज बीसीसीआई हेडक्वार्टर पहुंचे. कोच पद के सभी दावेदार भी इंटरव्यू के लिए मुंबई पहुंच रहे हैं. वीरेंद्र सहवाग भी आज सुबह बीसीसीआई हेडक्वार्टर पहुंचे. बता दें कि सहवाग का कोच पद के लिए अप्लाई करना बेहद चर्चा में रहा. ये बात भी मीडिया में आई कि सहवाग ने मात्र दो लाइन में ही अपना रेज्यूमे बीसीसीआई को भेजा.

शास्त्री मजबूत दावेदार

पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर रवि शास्त्री ने आखिर टीम इंडिया के कोच पद के लिए आवेदन किया था. बीसीसीआई ने नए सिरे से आवेदन मंगाए थे जिसके बाद शास्त्री ने आवेदन किया है. बताया जा रहा है कि शास्त्री ने बोर्ड से आश्वासन मिलने के बाद ही अप्लाई किया है और उनका कोच बनना तय है.

शास्त्री का सफल कार्यकाल

इससे पहले रवि शास्त्री टीम इंडिया के साथ बतौर डायरेक्टर भी जुड़ चुके हैं. पूर्व कोर्ट डंकन फ्लेचर की विदाई के बाद उन्हें ये जिम्मेदारी मिली थी. उनका ये कार्यकाल करीब एक साल का रहा था. इस दौरान उनकी और विराट कोहली की जुगलबंदी खासी चर्चा में रही थी. दोनों के बीच अच्छा तालमेल देखने को मिला था और टीम ने भी अच्छा प्रदर्शन किया था.

कुंबले ने दिया था इस्तीफा

हाल ही में कोच अनिल कुंबले ने कोच पद से इस्तीफा दिया है. चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में पाकिस्तान के हाथों करारी हार के बाद कुंबले ने कोच पद से इस्तीफा दिया था. चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान कप्तान विराट कोहली और कुंबले के बीच गहरे मतभेद का खुलासा भी हुआ. हालांकि दोनों ने इसे सिर्फ अफवाह ही करार दिया, लेकिन इस्तीफा देने के बाद कुंबले ने साफ कर दिया कि उनकी कोहली से कुछ वक्त से बात तक नहीं हो रही थी.