आईपीएल के दसवें सीजन के फाइनल में रविवार को होने वाले फाइनल में मुंबई इंडियंस और पुणे सुपरजाएंट की टीमें आमने-सामने होंगी. मुंबई इंडियंस की टीम चौथी बार आईपीएल फाइनल खेल रही है जबकि पुणे की टीम पहली बार आईपीएल फाइनल में पहुंची है.

इस सीजन में पुणे की टीम मुंबई के खिलाफ तीन बार खेली और तीनों ही बार उसे मात दी. इस बात का पुणे की टीम को फाइनल में मनोवैज्ञानिक लाभ जरूर मिलेगा.हालांकि पुणे के कप्तान स्मिथ ने कहा कि फाइनल में जो टीम अच्छा खेलेगी वही फाइनल जीतेगी.

वैसे तो स्मिथ की बात सही है लेकिन एक रिकॉर्ड है जो फाइनल में पुणे के पक्ष में जाता है. दरअसल अब तक आईपीएल के फाइनल में जब भी किसी ऑस्ट्रेलियाई कप्तान का किसी भारतीय कप्तान से मुकाबला हुआ है तो जीत हमेशा ऑस्ट्रेलियाई कप्तान वाली टीम की हुई है. तो इस बार भी मुकाबला ऑस्ट्रेलियाई स्टीव स्मिथ की टीम पुणे और भारतीय खिलाड़ी रोहित शर्मा की कप्तानी में खेल रही मुंबई इंडियंस के बीच है.

इससे पहले 2008 में शेन वॉर्न के नेतृत्व में राजस्थान रॉयल्स की टीम धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स को हराकर चैंपियन बनी थी.

इसके बाद 2009 में एडम गिलक्रिस्ट की कप्तानी में डेक्कन चार्जर्स ने अनिल कुंबले की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को मात देकर खिताब जीता.

पिछले साल यानी कि 2016 में डेविड वॉर्नर के नेतृत्व में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने विराट कोहली की टीम आरसीबी को मात देकर खिताब पर कब्जा जमाया.

यानी कि आईपीएल के फाइनल में हमेशा से ही ऑस्ट्रेलियाई कप्तान का पलड़ा भारतीय कप्तान के खिलाफ भारी रहा है. अब ये देखना दिलचस्प होगा कि इस आईपीएल फाइनल में भी ये रिकॉर्ड बरकरार रहता है या टूट जाता है!