आईपीएल के फाइनल में मुंबई इंडियंस को 129 रन के स्कोर पर रोकने के बाद लक्ष्य का पीछा करने उतरी पुणे को अजिंक्य रहाणे ने सधी शुरुआत दिलाई. पुणे का पहला विकेट राहुल त्रिपाठी के रूप में 17 रन के स्कोर पर गिरने के बाद (3) अजिंक्य रहाणे ने कप्तान स्मिथ के साथ मिलकर पारी को जमाया और स्कोर 8.4 ओवर में 50 रन तक पहुंचा दिया.

उन्होंने फाइनल में 38 गेंदों पर 5 चौके की मदद से 44 रन की शानदार पारी खेली और स्टीव स्मिथ के साथ दूसरे विकेट की साझेदारी में 45 गेंदों पर 54 रन की साझेदारी की.

अपनी इस शानदार पारी के दौरान रहाणे ने एक बेहतरीन रिकॉर्ड अपने नाम किया और एक सीजन में मुंबई इंडियंस के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए. रहाणे ने अपनी पारी में 21 रन बनाते ही ये रिकॉर्ड अपने नाम किया और एबी डिविलियर्स का रिकॉर्ड तोड़ा जिन्होंने इससे पहले मुंबई के खिलाफ 174 रन बनाकर ये रिकॉर्ड बनाया था.

रहाणे ने इस सीजन में मुंबई के खिलाफ हमेशा से ही अच्छा प्रदर्शन किया और इससे पहले खेले गए तीन मैचों में उन्होंने मुंबई के खिलाफ क्रमशः 60, 38 और 56 रन की पारियां खेलीं और ये तीनों मैच पुणे ने जीते. इनमें से क्वॉलिफायर में तो उन्होंने 56 रन की शानदार पारी खेलते हुए पुणे की जीत में अहम भूमिका निभाई.

इस सीजन में वैसे रहाणे का बल्ला ज्यादा नहीं चला और उन्होंने सिर्फ दो अर्धशतक जमाए और दोनों ही मुंबई के खिलाफ ही बनाए.