कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए शुक्रवार को गुजरात लायंस के खिलाफ ओपनिंग के लिए उतरे सुनील नारायण ने धमाकेदार अंदाज में बैटिंग की और गुजरात लायंस के गेंदबाजी की बखिया उधेड़ कर रख दी।

टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी कोलकाता के लिए नारायण ने महज 17 गेंदों पर 45 रन की धुआंधार पारी खेली। नारायण की पारी की खास बात ये रही कि उन्होंने अपनी पारी के सभी 42 रन बाउंड्री से ही बनाए (9 चौके, 1 छक्का), इस पारी के साथ ही नारायण आईपीएल में अपनी पारी के सभी रन बाउंड्री से बनाने के मामले में सबसे आगे निकल गए। उनसे पहले ये रिकॉर्ड 36 रन की पारी में सभी रन बाउंड्री से बनाने वाले श्रीलंका के सनथ जयसूर्या के नाम था।

सुनील नारायण ने गुजरात लायंस के खिलाफ 17 गेंदों पर 42 रन की अपनी पारी में सभी रन बाउंड्री से बनाए (bcci)

सुनील नारायण ने गुजरात लायंस के खिलाफ 17 गेंदों पर 42 रन की अपनी पारी में सभी रन बाउंड्री से बनाए (bcci)

 

उन्होंने प्रवीण कुमार द्वारा फेंके गए पहले ही ओवर की दूसरी गेंद पर नारायण ने चौका जड़ा और पहले ओवर में ही तीन चौके जड़ दिए। जेम्स फॉकनर के अगले ओवर में उन्होंने चार चौके जड़े, इस ओवर में 17 रन बने। बासिल थंपी के अगले ओवर में नारायण ने दौ चौके और एक छक्के की उड़ाए और इस ओवर में 15 रन बन गए।

नारायण की इस तूफानी बल्लेबाजी से 3 ओवर में ही कोलकाता का स्कोर 45 रन पहुंच गया। नारायण चौथे ओवर की दूसरी गेंद पर 17 गेंदों पर 9 चौके और 1 छक्के की मदद से 42 रन बनाकर रैना की गेंद पर फॉकनर के हाथों कैच आउट हुए। उन्होंने पहले विकेट के लिए गौतम गंभीर के साथ मिलकर 3.2 ओवर में 45 रन की साझेदारी की।

नारायण की तूफानी पारी का अंदाज इस बात से लगाया जा सकता है कि जब वह आउट हुए तो दूसरे छोर पर गंभीर 3 गेंदों पर 3 रन बनाकर नॉट आउट थे। नारायण ने 42 रन के स्कोर के साथ टी20 क्रिकेट में अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया। इससे पहले अपना सर्वश्रेष्ठ टी20 स्कोर उन्होंने इसी आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 37 रन की पारी खेलते हुए बनाया था।