पिछले सीजन की असफलता को पीछे छोड़ते हुए राइजिंग पुणे सुपरजाएंट की टीम ने इस बार फाइनल तक का सफर तय किया है. पिछले सीजन में धोनी की कप्तानी में पुणे की टीम 14 में से 5 मैच जीतकर पॉइंट्स टेबल में सातवें स्थान पर रही थी. वहीं इस टूर्नामेंट में पुणे की टीम स्टीव स्मिथ की कप्तानी में खेली और अब तक 15 में से 10 मैच जीतते हुए फाइनल में पहुंच चुकी है.

इस सीजन के शुरू होने से पहले राइजिंग पुणे सुपरजाएंट ने अपने नाम में छोटा सा बदलाव किया था और Supergiants से S को हटा दिया था और इसके Supergiant कर दिया था. ये छोटा सा बदलाव सच में पुणे की किस्मत बदलने वाला साबित हुआ. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिरी पुणे टीम ने अपना नाम क्यों बदला.  (IPL 2017: स्मिथ नहीं, फाइनल में होगा रोहित शर्मा और धोनी का मुकाबला, जानिए वजह)

नाम बदलने की वजह के बारे में पुणे के मालिक संजीव गोयनका ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि इसकी वजह है, ‘अंक ज्योतिष.’ जी हां, संजीव गोयनका ने एक ज्योतिष की सलाह पर ऐसा किया था. उन्होंने कहा, ‘मैं इसमें बहुत यकीन नहीं रखता हूं. एक ज्योतिष ने मुझसे कहा था कि ‘S’ हटाइए और ये अच्छा रहेगा. मैंने खुद से कहा, मैं इसमें यकीन नहीं रखता.’

गोयनका ने कहा, ‘लेकिन हम अच्छा नहीं कर रहे थे. इसलिए मैंने कहा, ठीक है, इसको आजमाते हैं. S हटा देते हैं फिर देखते हैं क्या होता है.’

इस सीजन में मुंबई को तीन बार मात दे चुकी पुणे की टीम 21 मई को खिताबी मुकाबले में मुंबई को मात देकर चैंपियन बनने की कोशिश करेगी.  (IPL 2017: आईपीएल फाइनल में उतरते ही धोनी के नाम दर्ज हो जाएगा ये खास रिकॉर्ड)