मुंबई। आईपीएल के फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स के बल्लेबाज शेन वॉटसन ने शतक जमाकर मैच एकतरफा कर दिया. 179 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए वॉटसन ने जबरदस्त बल्लेबाजी की और लक्ष्य बेहद आसान कर दिया, वॉटसन ने 51 गेंदों पर शतक जमाकर टीम को जीत दिला दी. वॉटसन ने संदीप शर्मा के 13वें ओवर में 27 रन बनाकर मैच में चेन्नई की जीत पर जैसे मुहर लगा दी. उन्होने 57 गेंदों में 117 रनों की नाबाद पारी खेली. अपनी पारी में वॉटसन ने 8 छक्के और 11 चौके जमाए. Also Read - IPL 2020: शेन वाटसन ने कहा- अनुभवी CSK के पास 13वां सीजन जीतने का पूरा मौका

Also Read - CSK के लिए फायदेमंद होंगी यूएई की धीमी पिचें : शेन वाटसन

आज वॉटसन सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरे और अंत तक टिके रहे. उन्होंने टीम को 18.2 गेंदों पर ही 8 विकेट रहते जीत दिला दी. उनकी तूफानी पारी के दम पर ही चेन्नई ने मजबूत गेंदबाजी आक्रमण वाली टीम हैदराबाद को पस्त कर दिया. इस मैच में राशिद खान भी नहीं चले. भुवनेश्वर कुमार और सिद्धार्थ कौल भी बेदम रहे. Also Read - शेन वॉटसन ने सुशांत सिंह राजपूत को किया याद, 'कभी-कभी तो मैं यह भूल ही जाता था कि वो...'

IPL 2018: क्रिस गेल के बाद अब शेन वॉटसन ने ठोका सीजन का दूसरा शतक

20 अप्रैल के मुकाबले में भी वॉटसन ने 51 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया था. इस पारी में उन्होंने 9 चौके और 6 छक्के जमाए थे. इससे पहले वह दो बार आईपीएल में शतक ठोक चुके हैं. वॉटसन अकेले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो बार आईपीएल के इतिहास में मोस्ट वैल्युबल प्लेयर का खिताब जीता है.

चारों मुकाबले हारी हैदराबाद

इस सीजन में हैदराबाद को चेन्नई के हाथों सभी 4 मुकाबलों में हार मिली है. चेन्नई ने आईपीएल सीजन 11 पर कब्जा जमाने के साथ ही अब तक तीन बार खिताब पर कब्जा जमा लिया हैं. मुंबई इंडियंस भी तीन बार चैंपियनशिप पर कब्जा कर चुकी है.