नई दिल्ली. IPL में पंजाब की बल्लेबाजी का बड़ा दारोमदार लोकेश राहुल पर है. इस जिम्मेदारी को वो सीजन में अब तक निभाते भी आए हैं. यहां तक कि हैदराबाद में सनराइजर्स के खिलाफ खेले मुकाबले में भी वो शानदार टच में दिख रहे थे. लेकिन, SRH के खिलाफ लाजवाब फॉर्म में दिख रहे राहुल की बल्लेबाजी ने यू टर्न तब लिया जब राशिद खान बल्लेबाजी को आए. हैदराबाद के कप्तान केन विलियम्सन ने जैसे ही गेंदबाजी के मोर्चे पर अपने इस तुरुप के इक्के को लगाया, राहुल बल्लेबाजी करना ही भूल गए. नतीजा, ये हुआ कि राशिद ने अपने पहले ही ओवर में खतरनाक दिख रहे इनफॉर्म राहुल को पॉवेलियन की राह पकड़ा दी. Also Read - CSK vs SRH Stats: हैदराबाद के खिलाफ शेन वॉटसन दिलाएंगे चेन्नई को जीत..! इनके आगे राशिद खान भी हो जाते हैं फेल

‘बॉल ऑफ द टूर्नामेंट’ Also Read - कौन हैं क्रिकेटर राशिद खान की पत्नी? Google ने बताया अनुष्का शर्मा का नाम - जानें क्या है वजह!

राशिद ने राहुल को कैसे अपनी जाल में फंसाया अब जरा वो समझिए. एक ओवर में 6 गेंदे होती हैं लेकिन राहुल को बल्लेबाजी की ए बी सी भुलाकर पवेलियन भेजने के लिए राशिद को सिर्फ 3 गेंदों का ही सहारा लेना पड़ा. राशिद के ओवर की पहली गेंद पर राहुल बाल-बाल बच गए. दूसरी गेंद पर किसी तरह सिंगल चुराकर उन्होंने स्ट्राइक गेल को दी. लेकिन जब ओवर की 5वीं गेंद पर फिर से राहुल का सामना राशिद से हुआ तो बच नहीं पाए. Also Read - IPL 2020: राहुल तेवतिया और रियान पराग ने मुश्किल परिस्थितियों में कैसे दिलाई राजस्थान को जीत, जानिए पूरी डिटेल

गेंद ने कांटा बदला और गेम ओवर

राहुल के लिए राशिद पहले ही अबूझ पहेली लग रहे थे. लिहाजा इस गेंद पर बचने के लिए राहुल ने अपने डिफेंस के सारे पैंतरे आजमाते हुए स्टंप में सॉलिड सेंध लगा दी. लेकिन, इसके बावजूद वो राशिद की गुगली को उसका ठीकाना ढूंढने से रोक नहीं सके. राशिद की ये गुड लेंथ लेक ब्रेक गेंद पहले ऑफ स्टंप पर पड़ी, टप्पा पड़कर ऐसा लगा कि गेंद बाहर जाएगी लेकिन अचानक ही गेंद ने अंदर की ओर टर्न लिया और राहुल की गिल्लियां बिखेर दी. इसी के साथ 4 चौके और 1 छक्के के साथ 32 रन की राहुल की पारी का भी अंत हो गया. राशिद खान की इस गेंद को बॉल ऑफ द टूर्नामेंट कहा जा रहा है, जिस पर सिर्फ राहुल ही क्या दुनिया का कोई भी बल्लेबाज चकमा खा सकता है.

एक्सपर्ट की नजर में राशिद

अफगान स्पिनर राशिद खान की इस अबूझ फिरकी पर बड़े-बड़े क्रिकेट एक्सपर्ट भी हैरान हैं. भारत के पूर्व ओपनर संजय मांजरेकर ने कहा कि राशिद खान पहले ऐसे लेग स्पिनर हैं जो अपने हाथ को पीछे ले जाकर उंगलियों की मदद से लेग स्पिन करते हैं, जैसे वो गुगली कर रहे हों. और, यही वजह है कि बल्लेबाज के लिए उन्हें पढ़ना आसान नहीं होता.

मांजरेकर की बात से इत्तेफाक रखते हुए क्रिकेटर से कमेंटेटर बने आकाश चोपड़ा ने कहा कि राशिद खान को भांपना इसलिए मुश्किल है क्योंकि उनकी गेंदबाजी में गुगली और लेगस्पिन के बीच एक महीन फर्क है. इसके अलावा उनका एक्शन फास्ट है.

बहरहाल, राशिद ने बॉल ऑफ द टूर्नामेंट की मदद से राहुल को ना सिर्फ बल्लेबाजी भूलाकर पंजाब के मजबूत किले में सेंध लगाई बल्कि जीत की बुनियाद भी रखी.