मुंबई। न्यूजीलैंड की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के कोच माइक हेसन ने केन विलियमसन की तारीफ करते हुए उन्हें मौजूदा समय में दुनिया के शीर्ष पांच बल्लेबाजों में जगह दी है और कहा है कि राष्ट्रीय टीम के कप्तान के पास किसी भी प्रारूप में सामंजस्य बैठाने का कौशल है. इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र में विलियमसन सनराइजर्स हैदराबाद की अगुआई कर रहे हैं और उनकी बल्लेबाजी और कप्तानी प्रेरणादायी रही है. Also Read - India vs Australia: वनडे सीरीज हारा भारत, Virat Kohli की कप्तानी पर भड़के हरभजन सिंह

Also Read - Virat Kohli ने मानी गलती, मुस्‍कुराते हुए बोले- Hardik Pandya को गेंदबाजी देकर प्‍लान का खुलासा कर दिया

दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ सनराइजर्स के मैच से पूर्व हेसन ने कहा कि किसी भी स्तरीय बल्लेबाज में अगर कौशल है तो वह खेल के किसी भी प्रारूप से सामंजस्य बैठा सकता है और केन विलियमसन भी इससे अलग नहीं है. उन्होंने कहा कि वह मैदान पर उतरते ही गेंद पर ताबड़तोड़ प्रहार करने की नहीं सोचता लेकिन वह अच्छी टाइमिंग के साथ खेलता है, अच्छी स्थिति में आता है और वहां हिट करता है जहां क्षेत्ररक्षक नहीं है. वह ऑलराउंड अच्छा खिलाड़ी है. Also Read - IND vs AUS, 2nd ODI: सीरीज गंवाते ही सोशल मीडिया पर क्‍यों ट्रेंड करने लगे Rohit Sharma, फैन्‍स ने रख दी ये डिमांड

केन विलियमसन के प्रदर्शन से खुश हुए कोच, कहा ”कोई नहीं है टक्कर में”

विलियमसन ने अब तक 10 मैचों में पांच अर्धशतक की मदद से 410 रन बनाए हैं जिसमें 84 रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर है. यह पूछने पर कि क्या विलियमसन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं, हेसन ने कहा कि देखिये मैं ऐसा नहीं कहूंगा.

इन टॉप क्रिकेटरों में दी जगह

उन्होंने कहा कि चार-पांच खिलाड़ी ऐसे हैं जो काफी अच्छे हैं. (भारत और रायल चैलेंजर्स बेंगलुरू के कप्तान) विराट कोहली एक है, (इंग्लैंड का) जो रूट काफी अच्छा है. स्टीव स्मिथ (ऑस्ट्रेलिया), केन विलियमसन, फिलहाल दुनिया में ये संभवत: चार शीर्ष खिलाड़ी हैं और एबी डिविलियर्स जब खेल रहा हो तो वह भी.

विलियमसन ने अब तक पांच अर्धशतक जड़े हैं जो इस सीजन में सबसे ज्यादा हैं. वह और उनकी टीम आईपीएल में जबरदस्त प्रदर्शन कर रही है और हैदराबाद सनराइजर्स अंकतालिका में टॉप पर है. खुद विलियमसन आगे से अगुवाई कर रहे हैं और उनका व्यक्तिगत प्रदर्शन बाकी सभी कप्तानों में सबसे बेहतर है. विलियमसन को ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर की जगह टीम का कप्तान नियुक्त किया गया था. बॉल टेंपरिंग को लेकर वॉर्नर पर एक साल का बैन लगा है.