नई दिल्ली। गौतम गंभीर की गैरमौजूदगी में कोलकाता के खिलाफ दिल्ली डेयरडेविल्स शुरुआत बेहद जबरदस्त रही. सलामी बल्लेबाजी के रूप में पृथ्वी शॉ और कॉलिन मनरो मैदान पर उतरे. दोनों ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 6 ओवर में ही 57 रन जोड़ दिए. शॉ का ये दूसरा मैच है जबकि मनरो ने टीम में वापसी की है. हालांकि मनरो ने 18 गेंदों में 33 रन की तेज पारी खेली. Also Read - 'धोनी का 7वें नंबर पर उतरना समझ से परे, बाद में 3 छक्के जड़ने का क्या फायदा, ये तो उनके निजी रन थे'

Also Read - KKR to invest Rs 5,550 crore in Reliance Retail: केकेआर 1.28 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए रिलायंस रिटेल में करेगी 5,550 करोड़ का निवेश

शॉ ने अपने पहले मैच में पंजाब के खिलाफ 22 रनों की पारी खेली थी. जबकि मनरो को खराब फॉर्म के कारण मौका नहीं दिया जा रहा था. आज के मैच में दिल्ली ने गौतम गंभीर को मौका नहीं दिया. उन्होंने दो दिन पहले ही दिल्ली की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया था. Also Read - IPL 2020 KKR vs MI Live Streaming: जानें रोहित शर्मा के 'इंडियंस' और दिनेश कार्तिक के 'नाइटराइडर्स' के बीच कब और कहां होगी भिड़ंत

मनरो के आउट होने के बाद पृथ्वी के तेवर बरकरार रहे और उन्होंने 38 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया. पृथ्वी की तेज बल्लेबाजी का ही कमाल था कि टीम का स्कोर 11.1 ओवर में 100 रन पहुंच गया जो इस सीजन में दिल्ली का बेस्ट स्कोर है. पृथ्वी ने मैदान के चारों तरफ शॉट लगाए.

क्रिस मौरिस पूरे सीजन के लिए बाहर, अब दिल्ली डेयरडेविल्स में आएगा ये तूफानी गेंदबाज

क्रिस मौरिस पूरे सीजन के लिए बाहर, अब दिल्ली डेयरडेविल्स में आएगा ये तूफानी गेंदबाज

गंभीर की जगह श्रेयस कप्तान

लगातार हार से आजिज आकर कप्तान गौतम गंभीर ने न सिर्फ कप्तानी छोड़ दी बल्कि खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए वेतन नहीं लेने का भी फैसला किया था. अब उनकी जगह श्रेयस अय्यर को कमान सौंपी गई है. नए कप्तानी का असर ये दिखा कि इस मैच में गंभीर को बाहर रखा गया. गंभीर लगातार अपने फॉर्म से जूझ रहे थे.

गंभीर छह मैचों में 17 की खराब औसत से 85 रन ही बना सके हैं. ऋषभ पंत ने छह मैचों में 227 और अय्यर ने 151 रन बनाये हैं जिसमें किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ पिछले मैच में 45 गेंद में 57 रन की पारी शामिल है लेकिन जेसन रे, ग्लेन मैक्सवेल और क्रिस मौरिस जैसे विदेशी सितारों ने निराश किया.

गेंदबाजी में लियाम प्लंकेट ने पंजाब के खिलाफ मौजूदा सत्र का पहला मैच खेलते हुए तीन विकेट लिये जबकि ट्रेंट बोल्ट छह मैचों में नौ विकेट ले चुके हैं. लेग स्पिनर राहुल तेवातिया ने छह मैचों में छह विकेट लिये जबकि निजी समस्याओं से जूझ रहे तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी चार ही मैच खेल सके जिनमें तीन विकेट उनकी झोली में गिरे.