हैदराबाद। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के गेंदबाजों ने अपने दमदार प्रदर्शन के दम पर इंडियन प्रीमियर लीग के मुकाबले में मेजबान सनराजर्स हैदराबाद को 20 ओवरों में 146 रनों पर ही समेट दिया. राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए इस मैच में बेंगलोर के गेंदबाजों ने नियमित अंतराल पर विकेट चटकाने के साथ ही रनों पर अंकुश लगाए रखा. मेजबान टीम का आखिरी विकेट पारी की आखिरी गेंद पर गिरा. Also Read - ICC Test Batting Rankings: मार्नस लाबुशेन से भी पिछड़े Virat Kohli, Rishabh Pant ने किया कमाल

केन विलियमसन का एक और अर्धशतक Also Read - IND vs ENG: पहले 2 टेस्ट के लिए टीम इंडिया का ऐलान, Ishant Sharma और Hardik Pandya की वापसी

हैदराबाद के लिए कप्तान केन विलियमसन ने सबसे ज्यादा 56 रन बनाए. आखिरी चार ओवरों में टीम सिर्फ 34 रन जोड़ पाई जबकि छह विकेट खो बैठी. एलेक्स हेल्स (5) इस मैच में अपना बल्ला नहीं चमका पाए और 15 के कुल स्कोर पर टिम साउदी की बेहतरीन इनस्विंग पर बोल्ड हो गए. मोहम्मद सिराज ने शिखर धवन (13) को 38 के कुल स्कोर पर पवेलियन की राह दिखाई. 10 रन बाद मनीष पांडे (5) को युजवेंद्र चहल ने अपना शिकार बनाया. Also Read - IND vs ENG: आज होगा पहले दो टेस्‍ट की टीम का ऐलान, इन चोटिल क्रिकेटर्स के खेलने पर सस्‍पेंस

48 रनों के कुल स्कोर पर अपने तीन विकेट खो चुकी हैदराबाद को कप्तान विलियमसन और हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब अल हसन (35) ने संकट से निकाला और चौथे विकेट के लिए 64 रनों की साझेदारी की. कप्तान उमेश की गेंद पर एक और बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में 112 के कुल स्कोर पर सीमा रेखा के पास मनन वोहरा के हाथों लपके गए. उन्होंने अपनी पारी में 39 गेंदों का सामना किया और पांच चौकों के अलावा दो छक्के लगाए.

नहीं चले बाकी बल्लेबाज

विलियसमन के जाने के बाद शाकिब भी साउदी का शिकार बन 124 के कुल स्कोर पर आउट हो गए. अंत में यूसुफ पठान से तेजी से रन बटोरने की उम्मीद थी, लेकिन वह सात गेंदों में दो चौकों की मदद से 12 रन ही बना सके. रिद्धिमान साहा (8), राशिद खान (1), भुवनेश्वर कुमार (1), सिद्धार्थ कौल (1) बड़े शॉट नहीं खेल सके. बेंगलोर के लिए टिम साउदी और मोहम्मद सिराज ने तीन-तीन विकेट लिए. उमेश यादव, युजवेंद्र चहल को एक-एक सफलता मिली.

बेंगलोर के लिए करो या मरो 

ये मैच बेंगलोर के लिए करो या मरो जैसा है. टीम 9 में से 6 मैच गंवा चुकी है और प्लेऑफ से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा है. अगर वह हैदराबाद को हराती है तभी प्लेऑफ की दौड़ में शामिल रह सकेगी. वहीं, हैदराबाद 9 में से 7 मैच जीतकर अंकतालिका में टॉप पर है.