कोलकाता: बेंगलोर  के बल्लेबाज मनदीप सिंह का कहना है कि सुनील नारायण के आक्रामक अर्धशतक ने उनकी टीम को कोलकाता के खिलाफ पहले मैच में जीत से वंचित कर दिया. नारायण ने 19 गेंद में 50 रन बनाकर कोलकाता को जीत दिलाई. मनदीप ने कहा ,‘ निश्चित तौर पर टर्निंग प्वाइंट नारायण की पारी थी . पहले छह ओवर में इस तरह की शुरुआत मिलने के बाद मैच 50 प्रतिशत कब्जे में आ जाता है. इसके बाद बाकी बल्लेबाजों के लिए करने को कुछ नहीं बचता. 18 गेंद में 37 रन बनाने वाले इस बल्लेबाज ने कहा ,‘ हम 10-15 रन पीछे रह गए . हमारा लक्ष्य 175 . 180 रन था . हम यदि उतने रन बना लेते तो बेहतर दबाव बना सकते थे. Also Read - Abu Dhabi T10 League: तूफानी ओपनर Chris Gayle, रसेल, ब्रावो और Shahid Afridi अब इस टी10 लीग में करेंगे चौकों और छक्कों की बारिश

Also Read - IPL 2020: मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती के 'पंच' से बने कई रिकॉर्ड्स, अनिल कुंबले और सुनील नारायण के क्लब में बनाई जगह

उन्होंने स्वीकार किया कि गेंदबाजी में टीम कमजोर पड़ गई . हमारे पास गेंदबाजी के पांच विकल्प थे . शायद टीम प्रबंधन पवन नेगी के नाम पर विचार करेगी, लेकिन मैं फिर कहूंगा कि मैच का फैसला पहले छह ओवर में ही हो गया था वरना हमारे गेंदबाजों का प्रदर्शन उतना बुरा नहीं था. Also Read - पिता के निधन के बावजूद भारी मन से बल्‍लेबाजी करने उतरा KXIP का बल्‍लेबाज, दिग्‍गजों ने की तारीफ

यह भी पढ़ेंः मैक्कुलम ने 8 रन बनाते ही हासिल की बड़ी उपलब्धि, ऐसा करने वाले वर्ल्ड क्रिकेट के दूसरे बल्लेबाज बने

एबी डिविलियर्स और बेंगलोर  के कप्तान विराट कोहली को लगातार दो गेंदों पर आउट करने वाले अनियमित स्पिनर नीतिश राणा ने कहा ,‘ मेरे पास खोने के लिये कुछ नहीं था . मुझे अच्छी पकड़ मिल रही थी . बस सटीक गेंदबाजी की जरूरत थी . मैने खुद पर भरोसा रखकर दो बड़े विकेट लिए.

गौरतलब है कि सुनील नरेन (50) की तूफानी पारी के बाद अपने नए कप्तान दिनेश कार्तिक (नाबाद 35) की जिम्मेदारी भरी पारी के दम पर कोलकाता ने रविवार को ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए इंडियन टी-20 लीग के 11वें संस्करण के मैच में रॉयल चैलेंजर्स को चार विकेट से हरा दिया. बेंगलोर ने कोलकाता के सामने 177 रनों का लक्ष्य रखा था जिसे इस पूर्व विजेता ने अपने घर में खेलते हुए 18.5 ओवरों में छह विकेट खोकर हासिल कर लिया.

कोलकाता ने सुनील नरेन को क्रिस लिन के साथ पारी की शुरुआत करने के लिए भेजा था. उन्होंने सौंपी गई जिम्मेदारी को सही ठहराया और महज 19 गेंदों में चार चौके तथा पांच छक्कों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेली. हालांकि लिन कुछ खास नहीं कर सके और पांच रन के निजी स्कोर पर क्रिस वोक्स का शिकार बने.