नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में स्पिनरों ने हमेशा कमाल दिखाया है. खेल से इस सबसे छोटे प्रारूप की सबसे बड़ी लीग में बीते कुछ संस्करणों को अगर उठाकर देखा जाए तो सफल टीमों में स्पिनरों ने अहम रोल अदा करते हुए अपनी टीम को सफलता दिलाई है, लेकिन 12वें सीजन में कहानी कुछ अलग है.  आईपीएल-12 में अभी तक 44 मैच खेले गए हैं. इनमें कुल 13 गेंदबाजों ने 10 या उससे ज्यादा विकेट लिए हैं. इनमें आठ तेज गेंदबाज और शेष स्पिनर हैं. तेज गेंदबाजों ने अपना जौहर दिखाते हुए 110 विकेट लिए हैं जबकि स्पिनरों की झोली में कुल 66 विकेट आए हैं.

12वें संस्करण में अभी तक सबसे ज्यादा विकेट दिल्ली कैपिटल्स के कागिसो रबाडा के नाम हैं. रबाडा के नाम 23 विकेट हैं. रबाडा के अलावा जिन तेज गेंदबाजों ने 10 या उससे ज्यादा विकेट लिए हैं उनमें से चेन्नई सुपर किंग्स के दीपक चाहर (15), किंग्स इलेवन पंजाब के मोहम्मद शमी (14), मुंबई इंडियंस के जसप्रीत बुमराह (13), मुंबई के ही लसिथ मलिंगा (12), दिल्ली के क्रिस मौरिस (12), राजस्थान रॉयल्स के जोफ्रा आर्चर (11) और सनराइजर्स हैदराबाद के संदीप शर्मा (10) के नाम हैं.

IPL 2019: प्लेऑफ के टाइम में हुआ बदलाव, अब 8 बजे से नहीं खेले जायेंगे मैच

वहीं, स्पिनरों में चेन्नई सुपर किंग्स के इमरान ताहिर (17), रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के युजवेंद्र चहल (14), राजस्थान के श्रेयस गोपाल (13), पंजाब के रविचंद्रन अश्विन (12), राशिद खान (10) के नाम हैं. लीग के इस सीजन में गेंदबाजी में अभी तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी एक तेज गेंदबाज ने किया है. मुंबई के अल्जारी जोसेफ ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 12 रन देकर छह विकेट लिए थे.

धोनी ने 19 साल पहले पिता को किया था आउट, अब बेटे का किया ‘शिकार’

जोसेफ ने आईपीएल इतिहास में एक पारी में सबसे अच्छी गेंदबाजी करने का रिकॉर्ड अपने नाम किया. इससे पहले यह रिकार्ड राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज सोहेल तनवीर ने 2008 में लीग के पहले सीजन में 14 रन देकर छह विकेट लिए थे. लीग में अभी काफी मैच बाकी हैं और ऐसे में स्पिनर आने वाले मैचों में तेज गेंदबाजों को पीछे छोड़ सकते हैं.