नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन का समापन हो चुका है और अब आंकड़ों की ओर देखने का समय है. रविवार को समाप्त हुए सीजन से एक रोचक आंकड़ा यह सामने आया है कि 500 से अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में पांच अलग-अलग क्लबों के खिलाड़ी शामिल हैं. 12वें सीजन में सबसे अधिक रन सनराइजर्स हैदराबाद टीम के ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने बनाए और ऑरेंज कैप के हकदार बने. वॉर्नर ने 12 मैचों में 692 रन बनाए. इसमें एक शतक और 8 अर्धशतक शामिल है. वॉर्नर 600 के क्लब में शामिल एकमात्र खिलाड़ी रहे.

उनके अलावा 500 के क्लब में किंग्स इलेवन पंजाब के लोकेश राहुल (593), चैम्पियन बनी मुम्बई इंडियंस के क्विंटन डी कॉक (529), दिल्ली कैपिटल्स के शिखर धवन (521) और कोलकाता नाइट राइर्ड्स के आंद्रे रसेल (510) शामिल हैं. 500 के क्लब में शामिल खिलाड़ियों में सिर्फ वॉर्नर और राहुल ही शतक लगा सके. राहुल ने एक शतक के अलावा छह अर्धशतक लगाए जबकि डीकॉक ने चार अर्धशतक लगाए. इसी तरह धवन के बल्ले से पांच और रसेल के बल्ले से चार अर्धशतक निकले.

अंपायर से उलझना पोलार्ड को पड़ा भारी, मैच से देना होगा जुर्माना

आईपीएल के 12वें सीजन में 400 या उससे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (416) का औसत सबसे बेहतर रहा. धोनी फाइनल में रन नहीं बना सके लेकिन इसके बावजूद 15 मैचों में वह 83 से अधिक के औसत से रन बनाने में सफल रहे.

इसका कारण यह है कि धोनी 12 पारियों में से सात बार नाबाद लौटे थे. यह भी इस सीजन के लिहाज से एक रिकार्ड है. धौनी के अलावा 400 के क्लब में शामिल मुम्बई इंडियंस टीम के हार्दिक पांड्या (402) कुल 6 बार नाबाद लौटे हैं.

मुंबई की जीत पर रोहित ने कही दिल जीतने वाली बात, मलिंगा को बताया चैम्पियन

किंग्स इलेवन पंजाब के स्टार बल्लेबाज क्रिस गेल 10 रनों के अंतर से 500 के क्लब में जगह नहीं बना सके. गेल इससे पहले दो बार 600 से अधिक रन बना चुके हैं. वैसे इस सीजन में वह एक बार 99 के निजी योग पर आउट हुए और नर्वस नाइंटीज का शिकार होने वाले खिलाड़ियों में सबसे दुर्भाग्यशाली रहे. दिल्ली कैपिटल्स के पृथ्वी शॉ भी 99 पर आउट हुए हैं.