आईपीएल 2020 का मंच सजने वाला है. बीसीसीआई 29 मार्च से भारत की इस टी20 लीग के 13वें संस्‍करण की शुरुआत करने जा रहा है. आयोजन से दो सप्‍ताह पहले भारत सरकार ने बीसीसीआई को तगड़ा झटका दिया है. यह झटका इतना घातक है कि इसके चलते आईपीएल को रद्द भी करना पड़ सकता है. Also Read - कोविड-19 महामारी के कारण शुरू नहीं हो सका IPL 2020, 'इडियट बॉक्स' पर नहीं दिखे MS Dhoni

जी हां, कोरोनावायरस (Coronavirus) के खतरे को देखते हुए भारत सरकार ने बुधवार को सभी देशों से आने वाले यात्रियों के वीजा रद्द कर दिए हैं. राजनायिक व नौकरी की तलाश में आने वाले लोगों के अलावा कुछ श्रेणी में ही अब भारत आने के लिए वीजा दिए जा रहे हैं. यह रोक 15 अप्रैल तक जारी रहेगी. Also Read - COVID-19: कोहली एंड कंपनी का ऑस्ट्रेलिया दौरा अधर में, ये है वजह

पढ़ें:- Asia XI vs World XI सीरीज कोरोनावायरस के चलते अनिश्चित काल के लिए हुई स्‍थगित Also Read - COVID-19: बीसीसीआई ने पुजारा फैमिली की तरह लोगों से घरों में रहने की अपील की

बीसीसीआई सूत्र ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर न्‍यूज एजेंसी पीटीआई को बताया ‘आईपीएल में खेलने वाले विदेशी खिलाड़ी बिजेनस वीजा की श्रेणी में आते हैं. सरकार के निर्देशों के अनुसार वे 15 अप्रैल तक नहीं आ सकते.’

देश में कोरोना वायरस के नए मामलों को देखते हुए सरकार ने परामर्श जारी करके सभी मौजूदा विदेशी वीजा 15 अप्रैल तक निलंबित कर दिए हैं. राजनयिक और कामकाजी वीजा जैसी कुछ श्रेणियों में हालांकि छूट दी गई है. भारत में अब तक कोरोना वायरस के 60 मामले सामने आ चुके हैं. इस विषाणु के कारण दुनिया भर में 4000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है कि विदेशी खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी में आईपीएल का आयोजन कैसे किया जा सकता है.भारत सरकार के इस फैसले के बाद आईपीएल की गवर्निंग बॉडी शनिवार को आयोजित होने वाली मीटिंग में इस संबंध में कोई अहम फैसला ले सकती है. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, “अभी इस बारे में मैं कुछ भी नहीं कह सकता हूं. आप मुझे दो दिन का वक्‍त दें.”

पढ़ें:- IND vs SA, 1st ODI: जानें कब और कहां देखें धर्मशाला में होने वाला पहला वनडे मुकाबला

बीसीसीआई कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए खाली स्‍टेडियम में भी मैच कराने पर विचार कर सकता है. इस बारे में 14 मार्च की मीटिंग में कोई फैसला लिया जा सकता है.