किंग्‍स इलेवन पंजाब ने 10.75 करोड़ रुपये की बड़ी रकम खर्च कर ग्‍लेन मैक्‍सेवल को अपनी टीम में शामिल किया। पंजाब मैक्‍सवेल को टीम के साथ जोड़ने के लिए अंत तक लड़ता रहा। फ्रेंचाइजी के मुख्‍य कोच अनिल कुंबले ने नीलामी के बाद टीम में मैक्‍सवेल की भूमिका को लेकर अहम जानकारी दी।

पढ़ें:- IPL 2020: सबसे महंगे टॉप-10 खिलाड़ियों में सिर्फ 1 भारतीय को मिली जगह, जानिए कौन है वह?

अनिल कुंबले ने बताया ने कहा कि ग्‍लेन मैक्‍सवेल पर आक्रामक बोली इसलिए लगाई गई ताकि टीम के मध्‍यक्रम को मजबूत किया जा सके। 31 साल का यह अनुभवी खिलाड़ी टीम के मध्‍यक्रम को मजबूती देगा।

पंजाब की टीम आईपीएल नीलामी में 42.70 करोड़ रुपये की सबसे अधिक राशि के साथ शामिल हुई थी। मैक्‍सेवल के अलावा टीम ने वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शेल्‍डन कॉट्रेल पर 8.50 करोड़ रुपये खर्च किये।

पढ़ें:- विश्व विजेता टीम के कप्तान इयोन मोर्गन के होने के बावजूद नाइटराइडर्स की अगुआई करेगा ये खिलाड़ी

कुंबले ने कहा, ‘‘हम टीम की कमी को दूर करने को लेकर स्पष्ट थे। हमें तेज गेंदबाजों और आक्रामक बल्लेबाजों की जरूरत थी। हमें मध्यक्रम में विस्फोटक बल्लेबाज चाहिए था। इसीलिए हमने ग्लेन मैक्सवेल को चुना।’’

पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘जाहिर है इस प्रारूप में ऑलराउंडर खिलाड़ियों का टीम में होना अच्छा होता है। हम भाग्यशाली हैं कि हमारी टीम में (जिमी) नीशाम, (शेल्डन) कोटरेल और (क्रिस) जॉर्डन जैसे ऑलराउंडर हैं। हमारे पास जो रकम थी उसे हम चार विदेशी खिलाड़ियों पर अधिक लगाना चाहते थे।’’