चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) ने किंग्स XI पंजाब (KXIP) को हराकर प्लेऑफ की दौड़ से उसे भी बाहर कर दिया है. प्ले ऑफ में पहुंचने से लिए पंजाब को आज हर हाल में जीत की दरकार थी. आज चेन्नई पर अगर वह जीत दर्ज करती तो उसके पास रन रेट के दम पर प्ले ऑफ में पहुंचने का मौका होता लेकिन चेन्नई के जबरदस्त गेम प्लान के सामने उसकी सारी उम्मीदें और योजनाएं ध्वस्त हो गईं.Also Read - Virender Sehwag बोले- गेंदबाजों के कप्तान रहे हैं MS Dhoni, मेंटॉर बनने से बुमराह & कंपनी को होगा फायदा

अब चेन्नई के बाद यह तय हो गया है कि प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने वाली दूसरी टीम पंजाब है और प्लेऑफ में बाकी बचे तीन स्थानों पर 5 टीमों में ही संघर्ष बचा है. डिफेंडिंग चैंपियन मुंबई (MI) की टीम यहां पहले ही टूर्नामेंट के दूसरे दौर में अपनी जगह पक्की कर चुकी है. Also Read - MS Dhoni के मेंटोर बनने से गेंदबाजी यूनिट को काफी मदद मिलेगी: वीरेंद्र सहवाग

इस मैच में पंजाब की हार के ये 5 कारण खास रहे. यहां आप भी जानें आखिर इस जरूरी मैच में कहां चूक कर गई किंग्स XI पंजाब की टीम. Also Read - IPL 2021- एक और खिताब जीतने के करीब है MS Dhoni की Chennai Super Kings: Kevin Pietersen

लुंगी एंगिडी ने लगाई घात
किंग्स की टीम में आज मयंक अग्रवाल चोट से उबरकर वापस आए थे. पंजाब की टीम को उम्मीद थी कि उनके आने से टीम के मिडल ऑर्डर को राहत मिलेगी. कप्तान केएल राहुल और मयंक की जोड़ी ने शुरुआत में जानदार की. लेकिन पारी के छठे ओवर में लुंगी एंगिडी ने मयंक (26) को पवेलियन भेज दिया. इसके बाद उन्होंने कप्तान केएल राहुल (29) को भी बोल्ड कप पंजाब की मुश्किलें बढ़ा दीं. राहुल के आउट होते ही पंजाब ने अपनी लय गंवा दी.

नहीं चला मिडल ऑर्डर
क्रिस गेल ने पंजाब के पिछले मैच में शानदार पारी खेली थी. इस बार टीम को उनसे उम्मीद थी वह एक बार फिर वैसा ही करिश्मा दोहराएंगे क्योंकि टीम को आज प्ले ऑफ में पहुंचने के लिए इसकी दरकार थी. लेकिन आज न तो गेल (12) चले, न ही निकोलस पूरन (2) इसके अलावा मंदीप सिंह (14) भी फ्लॉप साबित हुए. गेल को इमरान ताहिर, पूरन को शार्दुल ठाकुर और मंदीप को रवींद्र जडेजा ने अपना शिकार बनाया.

काम नहीं आई दीपक हुडा की शानदार पारी
राहुल मंयक के आउट होने के बाद किंग्स के लिए जब एक बार विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हुआ तो उसने रुकने का नाम नहीं लिया. पारी के 17वें ओवर तक उसने अपने 5 विकेट गंवा दिए. इस दौरान दीपक हुडा ने पारी को संभालने का काम बखूबी निभाया. जब लग रहा था किंग्स की टीम 130 रन तक भी नहीं पहुंच पाएगी, तब हुडा ने 30 बॉल में 62 रन की ताबड़तोड़ पारी खेलकर किंग्स का स्कोर 153 के सम्मानजनक स्कोर पर पहुंचा दिया. हुडा ने अपनी पारी में 3 चौके और 4 छक्के जड़े और वह अंत तक आउट नहीं हुए.

पंजाब के बोलर नहीं गिरा पाए सीएसके के विकेट
हुडा की पारी से पंजाब को इस मैच में अब कुछ दिखाने का मौका मिल गया था. उसे प्लेऑफ में पहुंचना था तो उसके गेंदबाजों को चाहिए था कि वे अब विकेट लेकर चेन्नै सुपरकिंग्स पर धावा बोल दें. लेकिन मोहमम्द शमी के नेतृत्व में पंजाब का बोलिंग अटैक कोई कमाल नहीं कर पाया. पूरे मैच में पंजाब की टीम सिर्फ एक ही विकेट हासिल कर पाई. क्रिस जॉर्डन की गेंद पर फाफ डुप्लेसिस (48) जब आउट हुए, तब तक सीएसके इस मैच में अपनी पकड़ बना चुकी थी.

रितुराज गायकवाड़ ने फिक किया कमाल
चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम इस टूर्नामेंट में अपनी ओपनिंग जोड़ी तलाश रही थी. लेकिन अंत में जब युवा बल्लेबाज रितुराज गायकवाड़ को मौका मिला तो उन्होंने दिखाया कि अगर उन्हें पहले मौका मिला होता तो चेन्नई की टीम टूर्नामेंट से अभी बाहर नहीं होती. इस युवा बल्लेबाज ने आज भी नाबाद 62 रन की पारी खेली. उन्हें सिर्फ 6 मैच खेलने का मौका मिला और यह टूर्नामेंट में उनकी तीसरी फिफ्टी थी. डुप्लेसिस के आउट होने के बाद गायकवाड़ ने अंबाती रायुडू (30*) के साथ मिलकर बाकी का काम पूरा कर दिया.