दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के मुख्य कोच रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) का सारा ध्यान इस समय तेज गेंदबाजों को तैयार करने पर है और साथ ही उनकी कोशिश है कि खिलाड़ी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की स्थिति में अपने आप को ज्यादा परेशान ना करें। ये कहना है टीम के टेलेंट स्काउट डेवलेपमेंट के मुखिया विजय दहिया का। Also Read - जोफ्रा आर्चर ने डाली आईपीएल 2020 की सबसे तेज गेंद, टॉप-20 में केवल एक भारतीय

फ्रेंचाइजी द्वारा जारी बयान के मुताबिक दहिया ने कहा, “पॉन्टिंग ने जिस तरह से नेट सेशन की प्लानिंग की है वो काफी अच्छी है। उनका ध्यान तेज गेंदबाजों को तैयार करने पर है। हम अपने साथ कुछ नेट्स गेंदबाज भी लेकर आए हैं, ताकि यहां की मुश्किल परिस्थितियों में सीजन में हमारे खिलाड़ियों पर वर्कलोड ज्यादा ना हो।” Also Read - शेन वार्न का दावा, जल्‍द ही भारत के लिए सभी प्रारूपों में खेलेंगे संजू सैमसन

भारत के पूर्व विकेटकीपर ने कहा, “मुझे लगता है कि सपोर्ट स्टाफ में उन लोगों के होने से ज्यादा असर पड़ता है जो लोग पहले खेले हों। इससे वो एक खिलाड़ी के तरह सोचते हैं और खिलाड़ियों को भी उनसे सीखने के लिए काफी कुछ मिलता है।” Also Read - हैदराबाद के स्‍टार बल्‍लेबाज जोनी बेयरस्‍टो को होने जा रहा है 6.5 करोड़ का घाटा, ECB ने उठाया कदम

दहिया ने कहा है कि आईपीएल के आगामी 13वें सीजन में मानसिक और शारीरिक फिटनेस काफी अहम होगी। दहिया ने कहा है कि उनका ध्यान इस बात पर है सभी खिलाड़ी सही समय पर अपनी फॉर्म के शीर्ष पर पहुंच जाएं और अपनी लय को बनाए रखने में सफल रहें।

उन्होंने कहा, “हमने वैकल्पिक नेट सेशन रखे थे और खिलाड़ियों को आजादी दी थी कि वो धीरे-धीरे अपनी लय में आएं और ट्रेनिंग में इसके परिणाम देखने को मिले हैं। हमारी रणनीति ऐसी है कि ये खिलाड़ी सीजन की शुरुआत से लेकर अंत तक लय में रह सकते हैं। ये काफी अहम है कि यह लोग पूरे सीजन मानसिक और शारीरिक तौर पर तरोताजा महसूस करते रहें।”

टीम के संयोजन पर बात करते हुए दहिया ने कहा कि टीम के पास अच्छा संतुलन है। उन्होंने कहा, “यहां कि विकेट धीरे-धीरे वैसी हो जाएंगी जैसी दिल्ली में हमारी यहां की हैं। हमारे पास कुछ शानदार स्पिनर हैं और अच्छे तेज गेंदबाज भी। ईशांत शर्मा ने पिछले साल अच्छा प्रदर्शन किया था। टीम का शीर्ष क्रम भी शानदार है, उसमें काफी प्रतिभा है और सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें सभी भारतीय हैं। इसलिए हमें चार विदेशी खिलाड़ियों को चुनने का विकल्प है।”

कोविड-19 के कारण इस बार का आईपीएल संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितंबर से खेला जाएगा।