कोरोना वायरस (coronavirus) की वजह से 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित किए गए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) टूर्नामेंट के रद्द होने की खबरें सामने आ रही हैं। रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई भारत सरकार के लॉकडाउन खत्म होने से पहले विदेश यात्रा और वीजा प्रतिबंधों पर नई घोषणा करने का इंतजार कर रहा है। Also Read - 'मुझे टीम इंडिया में नहीं लेंगे चयनकर्ता क्योंकि उन्हें लगता है कि मैं बूढ़ा हूं'

देश में लागू हुआ 21 दिनों का लॉकडाउन 15 अप्रैल को खत्म होगा। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया बयान के मुताबिक सरकार ने इस लॉकडाउन को आगे बढ़ाने पर फिलहाल कोई फैसला नहीं किया है। ऐसे में अगर लॉकडाउन 15 अप्रैल को खत्म भी हो जाता है तो भी बीसीसीआई को आईपीएल का आयोजन करने में कई मुश्किलों का सामना कर पड़ेगा। Also Read - Domestic Flights से महाराष्‍ट्र जाने वाले Air Passengers को 14 दिन का home isolation जरूरी, लेकिन...

हिदुस्तान टाइम्स को दिए बयान में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के सीईओ कासी विश्वनाथन ने कहा, “अगर 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म भी हो जाता है तो हमें ये देखने की जरूरत है कि खिलाड़ी वीजा कब जारी किया जाएगा।” Also Read - लॉकडाउन में 3 महीने से मां से दूर था 5 साल का विहान, विमान से अकेले सफर कर दिल्ली से पहुंचा बेंगलुरु

इसका मतलब है कि अगर भारत सरकार खिलाड़ियों को भारत आने की इजाजत दे भी देती है तो विदेशी सरकारों की अनुमति की भी जरूरत होगी। उदाहरण के तौर पर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की भागीदारी संदेह में है क्योंकि उनकी सरकार ने अपने नागरिकों पर ‘यात्रा ना करनें’ का प्रतिबंध लगाया है।

तय शेड्यूल के मुताबिक आईपीएल के 13वें सीजन का आयोजन 29 मार्च से शुरू होना था और फाइनल मैच का आयोजन 24 मई को होना था। इस टूर्नामेंट की आठ-टीमों में 62 विदेशी खिलाड़ी हिस्सा लेने वाले थे।