इंडियन प्रीमियर लीग 2020 (आईपीएल) सीजन के लिए खिलाड़ियों की नीलामी संपन्न हो चुकी है. अब क्रिकेट फैंस को इसके आयोजन का इंतजार है. ऐसे में खबर ये है कि आईपीएल के अगले सीजन का आयोजन 29 मार्च से 24 मई तक होगा. Also Read - IPL 2021, RCB vs RR: आरसीबी से मिली 10 विकेट से करारी शिकस्त, Sanju Samson ने गिनाए हार के कारण

INDvSL, 2nd T20: भारत ने जीता टॉस, पहले गेंदबाजी का फैसला Also Read - IPL 2021, RCB vs RR: आरसीबी ने लगाया 'विजयी चौका', जानिए जीत के 5 बड़े कारण

इस बार आईपीएल 57 दिन तक चलेगा. इसकी शुरुआत मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगी जबकि फाइनल मैच 24 मई को खेला जाएगा. मैचों की शुरुआत शाम 7:30 बजे से होना लगभग पक्का है. Also Read - IPL 2021, RCB vs RR: आरसीबी का मैच देखने पहुंचीं Dhanashree Verma, फेस शील्ड लगाए आईं नजर

इस मामले से संबंध रखने वाले एक सूत्र ने आईएएनएस से इस बात की पुष्टि की है कि लीग 57 दिन तक चलेगी और लंबी लीग होने का मतलब है कि एक दिन में दो मैचों की बात अब अतीत की हो जाएगी.

पूरा शेड्यूल अब तक नहीं है तैयार  

सूत्र ने कहा, ‘पूरा कार्यक्रम अभी तक तैयार नहीं है. फाइनल हालांकि 24 मई को खेला जाएगा. टूर्नामेंट 29 मार्च से शुरू हो रहा है तो आपके पास 45 दिन की तुलना से ज्यादा का लंबा समय है. इसलिए एक दिन में एक मैच की संभावना ज्यादा है. बल्कि यह उन लोगों के लिए आसान बात होगी जो कह रहे हैं कि 57 दिन में मैच कैसे खेले जाएंगे.’

उनसे जब मैचों की शुरुआत के समय के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैचों की शुरुआत का समय शाम 7:30 बजे, लगभग तय है. लीग का प्रसारणकर्ता चाहता था कि मैच जल्दी शुरू हों.

Video: डेविड वार्नर ने बनाया नन्हे फैन का दिन, तोहफे में दिया अपना बैट

उन्होंने कहा, ‘टीआरपी निश्चित तौर पर मुद्दा है, लेकिन सिर्फ इस बात पर सारी चीजें नहीं डालते हैं, आप खुद भी देख सकते हैं कि पिछले सीजन मैच कितनी देर से खत्म होते थे. जो लोग स्टेडियम आते थे उनके लिए वापस घर लौटना आसान नहीं रहता था. इस पर चर्चा हुई है और यह लगभग तय है कि इस सीजन शाम को 7:30 बजे मैच शुरू होंगे.’

फ्रेंचाइजी को हालांकि इस पर एतराज है क्योंकि उनका मानना है कि इस समय दर्शकों का स्टेडियम में आना बेहद मुश्किल है.

फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने कहा, ‘अगर आप मेट्रो में रह रहे हैं तो आप जानते हैं कि दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू में ट्रैफिक कैसा रहता है. क्या आपको वाकई में लगता है कि लोग छह बजे ऑफिस से निकलने के बाद अपने परिवार को लेकर मैच की शुरुआत तक स्टेडियम में आ पाएंगे? समय में बदलाव करने से पहले यह ऐसी चीज है जिस पर विचार करना चाहिए.’

गौरतलब है कि लीग के आधिकारिक प्रसाकरणकर्ता का कहना है कि कार्यक्रम में एक दिन में दो मुकाबले नहीं रखे जाएं, साथ ही जो टीम कार्यक्रम तैयार कर रही है वो इस तरह से तैयार करे की फ्रैंचाइजी को अपने विदेशी खिलाड़ियों की कमी नहीं खले.